मुंबई पात्रा चॉल घोटाला: राउत को राहत नहीं, इतने दिनों तक बढ़ी न्यायिक हिरासत

राउत को ईडी ने मेल घोटाले के सिलसिले में जून में गिरफ्तार किया था। कोर्ट ने राउत को न्यायिक हिरासत में भेज दिया।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक कि गोरेगांव मेल भ्रष्टाचार मामले में न्यायिक हिरासत में चल रहे शिवसेना सांसद संजय राउत को अब तक राहत नहीं मिली है। 2 नवंबर को उनकी जमानत अर्जी पर एक बार फिर सुनवाई हुई। लेकिन अदालत ने राउत की न्यायिक हिरासत 14 दिनों के लिए और बढ़ा दी गई है।

राउत को ईडी ने मेल घोटाले के सिलसिले में जून में गिरफ्तार किया था। कोर्ट ने राउत को न्यायिक हिरासत में भेज दिया। राउत के ठहरने को फिर आर्थर रोड जेल में स्थानांतरित कर दिया गया। इस बीच 2 नवंबर को राउत को फिर से पीएमएलए कोर्ट में पेश किया गया। ईडी ने लिखित रूप में जवाब दिया। सुनवाई के दौरान राउत की जमानत अर्जी पर फैसला सुरक्षित रख लिया गया और मामले की अगली सुनवाई नौ नवंबर को होगी और राउत को जेल होगी या जमानत पर 9 नवंबर को फैसला होगा।

यह भी पढ़ें – पुणे में मनसे करेगी 3500 ‘राजदूतों’ की नियुक्ति!

मनी लॉन्ड्रिंग की रकम की जांच कार्य जारी
ईडी ने गोरेगांव, मुंबई मेल धोखाधड़ी मामले में संजय राउत की पत्नी की भी जांच शुरू कर दी थी। राउत के करीबी प्रवीन राउत को भी गिरफ्तार किया गया है। राउत ने प्रवीण की मदद से यह धोखाधड़ी की। इसके बाद ईडी की ओर से कहा गया है कि मनी लॉन्ड्रिंग की रकम की जांच का काम चल रहा है। इस लेनदेन में प्रवीण राउत को मिली रकम संजय राउत की पत्नी के बैंक खाते में जमा करा दी गई है। ईडी ने यह भी आरोप लगाया है कि राउत ने उससे अलीबाग में जमीन खरीदी थी। संजय राउत को ईडी ने 31 जुलाई को हिरासत में लिया था। बाद में उन्होंने अपने ऊपर लगे सभी आरोपों का खंडन करते हुए कहा कि वे झूठे हैं और उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि राजनीतिक कारणों से उनके खिलाफ झूठे आरोप लगाए जा रहे हैं।

नागरिकों को ठगने का भी आरोप
पत्राचार में महाराष्ट्र आवास और क्षेत्र विकास प्राधिकरण प्लॉट। पतराचल क्षेत्र में 672 परिवारों के पुनर्विकास के लिए मई 2008। गुरु-आशीष कंस्ट्रक्शन की नियुक्ति निवासियों द्वारा की गई थी। लेकिन उन्होंने इस जगह का कुछ हिस्सा निजी बिल्डरों को बेच दिया। प्रवीण राउत पर पतराचल में रहने वाले नागरिकों को ठगने का भी आरोप है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here