“… इसलिए राउत दिल्ली में हमेशा पवार के कार्यालय में बैठते हैं!” राणे ने शिवसेना को किया सतर्क

केंद्रीय मंत्री नारायण राणे ने सामना में लिखे जाने वाले लेखों को लेकर संजय राउत पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि राउत जिस तरह की भाषा का उपयोग करते हैं, वह किसी सांसद या अखबार के संपादक के लिए उपयुक्त नहीं है।

शिवसेना सांसद संजय राउत पर भाजपा नेता और केंद्रीय मंत्री नारायण राणे ने गंभीर आरोप लगाते हुए शिवसेना को सतर्क रहने को कहा है। राणे ने कहा,”संजय राउत शिवसेना के नेता हैं, लेकिन दिल्ली में वे हमेशा राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के कार्यालय में ही रहते हैं। उनकी शिवसेना के प्रति कोई निष्ठा नहीं है। वे अपनी पार्टी के प्रति वफादार नहीं हैं। राउत इतने साल से शिवसेना में हैं, उन्होंने पार्टी के लिए क्या किया है?”

केंद्रीय मंत्री ने सामना में लिखे जाने वाले लेखों को लेकर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा कि राउत जिस तरह की भाषा का उपयोग करते हैं, वह किसी सांसद या अखबार के संपादक के लिए उपयुक्त नहीं है।

शिवसेना को दिया करारा जवाब
लोकसभा में डीएमके नेता कनिमोझी ने उनसे अंग्रेजी में औद्योगिक क्षेत्र और कोरोना की स्थिति के बारे में सवाल पूछे थे। लेकिन राणे सवाल का जवाब देते हुए लड़खड़ा गए थे। इसके लिए शिवसेना ने उन पर निशाना साधा था। इसका जवाब देते हुए राणे ने कहा कि उन्होंने बिना पेपर देखे आंकड़ों के साथ जवाब दिया।

ये भी पढ़ेंः तब कोई हिन्दू हितों की अवहेलना नहीं कर सकता – पुष्पेंद्र कुलश्रेष्ठ

25 साल मोदी सरकार
राणे ने कहा कि केंद्र सरकार कोरोना समेत सभी क्षेत्रों में अच्छा काम कर रही है। नए कोरोना वेरिएंट ओमिक्रोन के खिलाफ केंद्र द्वारा कई प्रभावी उपाय किए जा रहे हैं। देश आत्मनिर्भरता की ओर बढ़ रहा है। यह मोदी की सरकार है, अगले 25 वर्षों तक चलेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here