पंजाब: किसान का नाम, आतंकी षड्यंत्र का है काम? पूजा करते भाजपा नेताओं के साथ हुआ बुरा

पंजाब में भारतीय जनता पार्टी के नेताओं पर हमले जारी हैं।

पंजाब में किसान यूनियन के भड़कावे में और खालिस्तानी आतंकी षड्यंत्र के भटके स्थानीय लोग अब पूजा पाठ कर रहे भाजपा नेताओं पर हमले कर रहे हैं। शुक्रवार को परिस्थिति ऐसी बन गई कि, रोहतक के किलोई गांव में मंदिर गए नेता बंधक बना लिये गए।

उत्तराखंड के केदारनाथ धाम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जिस समय पूजन और आदि गुरु शंकराचार्य की मूर्ति का अनावरण कर रहे थे, उस समय पंजाब के रोहतक जिले के कोलाई गांव के प्राचीन शिव मंदिर में भाजपा के नेता भी पहुंचे हुए थे। जब नेता मंदिर में थे, उस समय बड़ी संख्या में लोगों का एक समूह मंदिर के बाहर पहुंच गया। इन लोगों ने मंदिर की सीसीटीवी तोड़ दी और बाहर पेड़ आदि रखकर मार्ग को अवरुद्ध कर दिया। यह लोग भारतीय जनता पार्टी के नेताओं का विरोध कर रहे थे।

पुलिस की लीपापोती
जब प्राचीन शिव मंदिर में भाजपा नेता पूजा पाठ कर रहे थे, उस समय उत्पाती भीड़ तोड़फोड़ करके सभी को मंदिर के अंदर ही बंद कर दिया था। बाहर नेताओं की गाड़ियों को निशाना बनाया गया था। बड़ी संख्या में वहां पुलिस बल तैनात था, लेकिन कार्रवाई के नाम पर लीपापोती ही अधिक दिख रही थी।

बड़ी संख्या में भाजपा नेता बंधक
देश के कई शिव मंदिरों में प्रधानमंत्री के केदारनाथ मंदिर के कार्यक्रम का सीधा प्रसारण हो रहा था। कोलाई गांव के प्राचीन शिव मंदिर में कार्यक्रम के लिए भाजपा उपाध्यक्ष व पूर्व सहकारिता मंत्री मनीष कुमार ग्रोवर, संगठन मंत्री रविंद्र राजू, मेयर मनमोहन गोयल, जिला अध्यक्ष अजय बंसल, सतीश नांदल, भाजपा अनुसूचित जाति मोर्चा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राम अवतार वाल्मीकि, सीनियर डिप्टी मेयर राजकमल सहगल, भाजपा के कई पार्षद, महिला मोर्चा की जिला अध्यक्ष उषा शर्मा, भाजपा युवा मोर्चा जिला अध्यक्ष नवीन ढुल समेत रोहतक भाजपा के कई नेता और अनेक पदाधिकारी पहुंचे थे। इन सभी को मंदिर के बाहर इकट्ठा हुई भीड़ ने बंधक बना लिया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here