मुख्यमंत्री पर ‘वो’ बयान पड़ा भारी… नारायण राणे हुए गिरफ्तार

केंद्रीय मंत्री नारायण राणे को गिरफ्तार करने के लिए पुलिस पहुंची थी। जिसका तीव्र विरोध हुआ।

केंद्रीय मंत्री नारायण राणे को रत्नागिरी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। उन्हें संगमेश्वर से गिरफ्तार किया गया। इसके पहले नासिक पुलिस आयुक्त ने रत्नागिरी के पुलिस अधीक्षक से बात की थी। उन्होंने राणे की गिरफ्तारी की कार्रवाई में सहयोग की मांग की थी। इसके अलावा महाड में भी प्रकरण दर्ज हुआ था। जिस पर रत्नागिरी पुलिस ने कार्रवाई की थी।

भारतीय जनता पार्टी की जन आशीर्वाद यात्रा रत्नागिरी में थी। इसी बीच नारायण राणे के विरुद्ध पुलिस ने कार्रवाई कर दी और उन्हें गिरफ्तार कर लिया। राणे पर मुख्यमंत्री के खिलाफ आक्षेपार्ह बयान देने का आरोप है। जिसको लेकर नासिक समेत राज्य में चार स्थानों पर शिवसैनिकों ने प्रकरण दर्ज कराया था। नासिक पुलिस द्वारा दर्ज किये गए प्रकरण में कार्रवाई को लेकर सुबह से ही सरगर्मी थी।

ये है प्रकरण
नारायण राणे ने भाजपा की जन आशीर्वाद यात्रा में संबोधित करते हुए उद्धव ठाकरे को थप्पड़ मारने की बात कही थी। उन्होंने कहा कि, मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को यह भी नहीं पता कि देश कब स्वतंत्र हुआ था। उन्होंने कहा कि मैं वहां होता तो उन्हें जोरदार थप्पड़ मारता।

राणे के इस बयान के बाद शिवसेना ने उनके विरुद्ध नासिक, पुणे, महाड में शिकायत दर्ज कराया। जिस पर कार्रवाई को लेकर पुलिस सक्रिय हो गई। इस बीच नारायण राणे ने गिरफ्तारी पूर्व जमानत के लिए न्यायालय में याचिका की थी, जिसे न्यायालय ने ठुकरा दिया। उच्च न्यायालय ने भी नारायण राणे की याचिका पर तत्काल सुनवाई से इन्कार कर दिया था। जिसके बाद पुलिस की कार्रवाई के लिए अवसर मिल गया।

असंज्ञेय अपराध को संज्ञेय बनाने का कार्य – देवेंद्र फडणवीस
नारायण राणे के विरुद्ध पुलिस की कारवाई पर भारतीय जनता पार्टी के नेता और नेता प्रतिपक्ष देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि यह एक असंज्ञेय (नॉन कॉग्निजेबल) अपराध है, परंतु इसे कॉग्निजेबल के रूप में फ्रेम किया जा रहा है। देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि वे नारायण राणे के बयान का समर्थन नहीं करते। लेकिन, उनके साथ पूरी भारतीय जनता पार्टी है। देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि, इसके पहले उन पर और उनके परिवार पर भी अभद्र टिप्पणियां की गई थीं, परंतु उस पर कोई कार्रवाई नहीं की गई।

वारंट दिखाएं खुद गिरफ्तारी देंगे – प्रमोद जठार
भाजपा की जन आशीर्वाद यात्रा के आयोजक प्रमोद जठार ने बताया कि, रत्नागिरी के पुलिस अधीक्षक से नारायण राणे की गिरफ्तारी के लिए वारंट की मांग की गई थी। परंतु, पुलिस अधीक्षक ने वारंट दिखाने के बदले बोल रहे थे कि उन पर दबाव है गिरफ्तारी के लिए। जठार ने कानूनी प्रक्रिया के अनुकूल कार्रवाई का समर्थन करने की बात भी कही।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here