राहुल गांधी के सावरकर विरोधी बयान पर मुंबई, ठाणे, पुणे और नागपुर में प्रदर्शन

भाजपा के साथ बालासाहेब की शिवसेना और महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के कार्यकर्ता भी राहुल गांधी का जोरदार विरोध कर रहे हैं।

स्वतंत्रता सेनानी वीर सावरकर के विरोध में व्यक्तव्य करने के बाद राहुल गांधी के विरुद्ध भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) आक्रामक हो गई है। भाजपा कार्यकर्ताओं ने 18 नवंबर को मुंबई, ठाणे, पुणे और नागपुर में राहुल गांधी के विरुद्ध जोरदार प्रदर्शन किया है। पुलिस प्रदर्शनकारियों के विरुद्ध धरपकड़ की कार्रवाई भी कर रही है।

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने 16 नवंबर को भारत जोड़ो यात्रा के दौरान एक सभा में कहा था कि वीर सावरकर ने अपनी जेल की सजा खत्म करने के लिए अंग्रेजों को पत्र लिखा था और अंग्रेजों से 60 रुपये प्रतिमाह पेंशन भी ली थी। राहुल गांधी के इस बयान के बाद 17 नवंबर से महाराष्ट्र का राजनीतिक माहौल गरमा गया है। 18 नवंबर को सुबह भारतीय जनता युवा मोर्चा (भाजयुमो) के कार्यकर्ताओं ने मुंबई, ठाणे, पुणे और नागपुर में प्रदर्शन किया। पुणे में भाजयुमो कार्यकर्ताओं ने कांग्रेस पार्टी के कार्यालय में जाकर नेहरु गांधी माफीवीर जैसे पोस्टर भी लगाए। साथ ही कई जगह राहुल गांधी की फोटो पर कालिख पोती गई और चप्पल भी मारे गए।

ये भी पढ़ें – महाविकास आघाडी में भी आ सकती है दरार, राहुल गांधी के बयान पर भड़के संजय राउत

भाजपा के साथ बालासाहेब की शिवसेना और महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के कार्यकर्ता भी राहुल गांधी का जोरदार विरोध कर रहे हैं। शिवसेना (उद्धव बालासाहेब ठाकरे) के नेता संजय राऊत ने कहा है कि भारत जोड़ो यात्रा के दौरान राहुल गांधी को इस तरह की बयानबाजी नहीं करनी चाहिए थी। शिवसेना इसका किसी भी कीमत पर समर्थन नहीं करेगी। इस बयान का असर महाविकास आघाड़ी पर पड़ सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here