ऐसे बच्चों के पालन-पोषण के लिए अब ‘पीएम केयर्स’

कोरोना की दूसरी लहर ने परिवारों को संक्रमित किया और बहुत से परिवारों से परिजनों को ही छीन लिया जिसके कारण बच्चे अनाथ हो गए।

कोरोना महामारी ने देश में कई बच्चों को अनाथ कर दिया है। इनकी सुध लेनेवाला कोई नहीं है। ऐसी स्थिति में कई राज्य सरकारों ने और अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वत: इन बच्चों के पाल-पोषण का संज्ञान लिया है। इसके लिए प्रधानमंत्री ने कई कल्याणकारी योजनाओं को शुरू करने के लिए अंतिम रूप दिया है, जिसका भुगतान पीएम केयर्स के माध्यम से किया जाएगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में एक बैठक संपन्न हुई। जिसमें कोविड 19 से अनाथ हुए बच्चों के लालन-पालन पर चर्चा हुई। इसके लिए ‘पीएम केयर्स फॉर चिल्ड्रन’ की घोषणा की गई है। प्रधानमंत्री की ओर से कहा गया है कि यह सहायता लोगों के दान से संभव हो पा रही है। जिसे उन लोगों ने पीएम केयर्स में दिया है। अनाथ बच्चों के लिए कई योजनाएं बनाई गई हैं जिससे उनके विकास, शिक्षा, रहने, खाने के खर्च की व्यवस्था हो पाएगी।

ये भी पढ़ें – स्वातंत्र्यवीर सावरकर पुरस्कार समारोह! “विज्ञाननिष्ठ सावरकर होते तो देश बदल जाता”

सावधि जमा योजना

  • पीएम केयर्स के माध्यम से अनाथ हुए बच्चों के लिए एक सावधि जमा योजना लाई जाएगी, जिसके माध्यम से प्रति बच्चे के नाम पर 10 लाख रुपए की राशि जमा की जाएगी, जो उसे 18 वर्ष की आयु तक के लिए सहायक होगा
  • इस राशि से उसे मासिक आर्थिक सहायता और अगले पांच वर्षों तक स्टाइपेंड के रूप में उसकी निजी आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए दिया जाएगा
  • 23 वर्ष की आयु पूरी होने के बाद इकमुश्त राशि मिलेगी

दस वर्ष से कम आयु के बच्चों की शिक्षा

  • बच्चे को पास के केंद्रीय विद्यालय और निजी स्कूल में डे स्कॉलर के रूप में प्रवेश दिया जाएगा

यदि बच्चा निजी स्कूल में प्रवेश पाता है तो शिक्षा के अधिकार के अंतर्गत फीस पीएम केयर्स से दी जाएगी

पीएम केयर्स बच्चों के यूनिफार्म और पुस्तकों का भुगतान भी करेगा

11 से 18 आयु वर्ग के बच्चों की शिक्षा

  • केंद्र सरकार के निवासी स्कूल, सैनिक स्कूल या नवोदय विद्यालय में मिलेगा प्रवेश
  • यदि बच्चा अपने किसी संबंधी के साथ रहता है तो उसका प्रवेश पास के केंद्रीय विद्यालय या निजी स्कूल में डे स्कॉलर के रूप में कराया जाएगा
  • निजी स्कूल में प्रवेश पानेवाले बच्चे के स्कूल की फीस शिक्षा के अधिकार योजना के अंतर्गत पीएस केयर्स देगा
    पीएम से बच्चों के यूनिफार्म और पुस्तकों के लिए होगा भुगतान

उच्च शिक्षा के लिए सहायता

  • बच्चे को शिक्षा ऋण प्राप्त करने में सहायता की जाएगी, ऋण का ब्याज पीएम केयर्स से भरा जाएगा
  • बच्चों को पर्यायी स्कॉलरशिप के माध्यम से सहायता प्रदान की जाएगी, जो बच्चे ऐसे स्कॉलरशिप को प्राप्त करने के पात्र नहीं होंगे उन्हें पीएम केयर्स समकक्ष स्कॉलरशिप देगा

स्वास्थ्य बीमा

  • सभी बच्चों को आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत 5 लाख रुपए के बीमा के लिए पंजीकृत किया जाएगा
  • इनका प्रीमियम बच्चों की 18 वर्ष की आयु तक पीएम केयर्स के माध्यम से भरा जाएगा

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here