पीएम ने आठ राज्यों के मुख्यमंत्रियों को किया संबोधित! कही ये बातें

पीएम नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए पूर्वोत्तर राज्यों में कोरोना की स्थिति पर चर्चा की। इस दौरान पीएम ने हिल स्टेशनों पर बढ़ रही पर्यटकों की भीड़ और कोरोना रोधी नियमों के उल्लंघन पर चिंता जताई।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 13 जुलाई को देश के 8 राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बात की। उन्होंने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए पूर्वोत्तर राज्यों में कोरोना की स्थिति पर चर्चा की। इस दौरान पीएम ने हिल स्टेशनों पर बढ़ रही पर्यटकों की भीड़ और कोरोना रोधी नियमों के उल्लंघन पर चिंता जताई। प्रधानमंत्री ने कहा कि हिल स्टेशनों पर बिना मास्क और सामाजिक दूरी का पालन किए उमड़ रही भीड़ चिंताजनक है।

पीएम ने कहा कि कोविड-19 के फैलने के उच्च जोखिम वाले क्षेत्रों में टीकाकरण पर और जोर देने की जरुरत है। मोदी ने कहा कि कोरोना की तीसरी लहर को रोकने के लिए हम सबको मिलकर काम करने की आवश्यकता है। पीएम ने कहा कि वायरस का प्रसार रोकने के लिए छोटे स्तर पर सख्त कदम उठाने की आवश्यकता है।

ये भी पढ़ेंः अब अनिल देशमुख के बेटे भी ईडी के रडार पर! ये है मामला

खास बातें

  • हमें टेस्टिंग और ट्रीटमेंट से जुड़े इंफ्रास्ट्रक्चर में सुधार करते हुए आगे बढ़ना है। इसके लिए हाल ही में कैबिनेट ने 23 हजार करोड़ रुपए का नया पैकेज भी स्वीकृत किया है।
  • नॉर्थ ईस्ट के हर राज्य को इस पैकेज से अपने हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर को मजबूत करने में मदद मिलेगी।
  • ये सही है कि कोरोना की वजह से टूरिज्म, व्यापार-कारोबार बहुत प्रभावित हुआ है। लेकिन आज मैं बहुत जोर देकर कहूंगा कि हिल स्टेशंस में, मार्केट्स में बिना मास्क पहने, भारी भीड़ उमड़ना ठीक नहीं है।
  • केंद्र सरकार द्वारा चलाए जा रहे ‘सबको वैक्सीन-मुफ्त वैक्सीन’ अभियान की नॉर्थ ईस्ट में भी उतनी ही अहमियत है।
  • तीसरी लहर से मुकाबले के लिए हमें वैक्सीनेशन की प्रक्रिया तेज़ करते रहना है।
  • हमें कोरोना वायरस के हर वेरिएंट पर भी नजर रखनी होगी।
  • म्यूटेशन के बाद ये कितना परेशान करने वाला होगा, इस बारे में एक्सपर्ट्स लगातार स्टडी कर रहे हैं। ऐसे में प्रिवेंशन और ट्रीटमेंट बहुत जरूरी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here