‘परिवारवादियों की पार्टनरशिप यूपी की आकांक्षाओं को कुचलती रही’- प्रधानमंत्री के प्रहार की वो पांच बातें

पूर्वांचल विकास की विभिन्न परियोजनाओं पर उत्तर प्रदेश में कार्य चल रहा है। इसमें महत्वपूर्ण कड़ी है पूर्वांचल एक्सप्रेस वे।

पूर्वांचल एक्सप्रेस के उद्घाटन के अवसर पर प्रधानमंत्री उत्तर प्रदेश की पूर्ववर्ती सरकारों पर जमकर बरसे। उन्होंने प्रदेश के विकास को लेकर की गई घोषणाओं और उनमें लगनेवाले संसाधनों के बीच तारतम्य न होने की चर्चा की। इसके साथ ही दिल्ली और लखनऊ की परिवारवादी सरकारों को प्रधानमंत्री ने विकास कार्यों के पिछड़ेपन के लिए जिम्मेदार ठहराया।

एक व्यक्ति घर भी बनाता है तो पहले रास्तों की चिंता करता है, मिट्टी की जांच करता है, दूसरे पहलुओं पर विचार करता है। लेकिन यूपी में हमने लंबा दौर, ऐसी सरकारों का देखा है जिन्होंने कनेक्टिविटी की चिंता किए बिना ही औद्योगीकरण के सपने दिखाए, परिणाम ये हुआ कि ज़रूरी सुविधाओं के अभाव में यहां लगे अनेक कारखानों में ताले लग गए।

ये भी दुर्भाग्य रहा कि दिल्ली और लखनऊ, दोनों ही स्थानों पर परिवारवादियों का ही दबदबा रहा। सालों-साल तक परिवारवादियों की यही पार्टनरशिप, यूपी की आकांक्षाओं को कुचलती रही।

ये भी एक सच्चाई थी कि यूपी जैसा विशाल प्रदेश, पहले एक दूसरे से काफी हद तक कटा हुआ था। अलग अलग हिस्सों में लोग जाते तो थे, लेकिन एक दूसरे से कनेक्टिविटी ना होने की वजह से परेशान रहते थे। पूरब के लोगों के लिए लखनऊ पहुँचना भी महाभारत जीतने जैसा होता था।

पिछले मुख्यमंत्रियों के लिए विकास वहीं तक सीमित था जहां उनका घर था। लेकिन आज जितनी पश्चिम की पूछ है, उतनी ही पूर्वांचल के लिए भी प्राथमिकता है। पूर्वांचल एक्सप्रेसवे आज यूपी की इस खाई को पाट रहा है, यूपी को आपस में जोड़ रहा है।

कौन भूल सकता है कि पहले यूपी में पहले कितनी बिजली कटौती होती थी। कौन भूल सकता है कि यूपी में कानून व्यवस्था की क्या हालत थी। कौन भूल सकता है कि यूपी में मेडिकल सुविधाओं की क्या स्थिति थी। यूपी में तो हालात ऐसे बना दिये थे कि यहाँ सड़कों पर राह नहीं होती थी, राहजनी होती थी।

गरीबों को पक्के घर मिलें, गरीबों के घर में शौचालय हों, महिलाओं को खुले में शौच के लिए बाहर ना जाना पड़े, सबके घर में बिजली हो, ऐसे कितने ही काम थे, जो यहां किए जाने जरूरी थे। लेकिन मुझे बहुत पीड़ा है, कि तब यूपी में जो सरकार थी, उसने मेरा साथ नहीं दिया

मुझे मालूम था कि जिस तरह तब की सरकार ने यूपी के लोगों के साथ नाइंसाफी की, विकास में भेदभाव किया, जिस तरह सिर्फ अपने परिवार का हित साधा गया उसके कारण यूपी के लोग ऐसा करनेवाली सरकार को हमेशा-हमेशा के लिए यूपी के विकास के रास्ते से हटा देंगे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here