गुजरात चुनाव 2022ः प्रदेश के विकास के रोड मैप पर प्रधानमंत्री ने कही ये बात

पशुधन की चर्चा करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि अब तक पशुपालकों को दूध से आवक होती थी, लेकिन अब उनके गोबर से भी आय होने लगी है।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 24 नवंबर को गुजरात दौरे के दूसरे दिन उत्तर गुजरात का रुख करते हुए पालनपुर में सभा की। भाजपा के विजय संकल्प सम्मेलन के तहत उन्होंने बनासकांठा जिले के सभी 9 भाजपा उम्मीदवारों के लिए मत मांगे। यहां उन्होंने विरोधी पार्टियों पर लक्ष्य करने के बजाए सिर्फ क्षेत्र में हुए विकास की चर्चा करते हुए पांच ‘प’ की चर्चा की। उन्होंने कहा कि यह पांच ‘प’ यानी पर्यटन, पर्यावरण, पानी, पशुधन और पोषण की वे चर्चा करेंगे जो चुनावी मुद्दा में शामिल नहीं होता है। उन्होंने कहा कि उनके दिल में बनासकांठा, गुजरात और देश के लिए विकास की सीधी रेखा खींची है।

अब घर-घर पहुंच रहा है पानी
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि उत्तर गुजरात यानी पानी की कमी से जूझने वाला क्षेत्र, लेकिन आज यहां नर्मदा का पानी घर-घर पहुंच चुका है। यहां का धार्मिक स्थल माता अंबा का धाम पूरी तरह से बदल चुका है। इसकी वजह से श्रद्धालुओं की संख्या बढ़ती जा रही है। यह यहां के लोगों के लिए रोजगार के नए-नए अवसर पैदा कर रहा है। उन्होंने कहा कि गरीब के घरों का चूल्हा नहीं बुझना चाहिए। उनके बच्चे रात में भूखे नहीं सोने चाहिए।

विकास को लेकर कही ये बात
प्रधानमंत्री मोदी ने यहां अपने संबोधन में विकास की कई बातें की। उन्होंने कहा कि बिजली और पानी के क्षेत्र में विकास कर यह क्षेत्र विकास की ऊंचाई को छूने में सफल हुआ है।

यह भी पढ़ें – खसरा प्रकोप: मुंबई में सुरक्षा ही सावधानी, पिछले चौबीस घंटे में 13 नए प्रकरण और एक की मौत

उत्तर गुजरात के सीमावर्ती गांवों के विकास का काम शुरू
प्रधानमंत्री ने कहा कि सरदार सरोवर को देखने लाखों लोग आते हैं तो धरोई में क्यों नहीं आते हैं। यहां भी बड़ा पर्यटन क्षेत्र तैयार करना है। इसका बीड़ा उन्होंने उठाया है। उत्तर गुजरात के सीमावर्ती गांवों के विकास का काम शुरू किया गया है। उन्होंने कहा कि गुजरात को ग्रीन हाइड्रोजन का हब बनाना है। आप लोगों की गाड़ी पेट्रोल-डीजल से नहीं ग्रीन हाइड्रोजन से चलेगी।

गोबर से भी हो रही है कमाई
पशुधन की चर्चा करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि अब तक पशुपालकों को दूध से आवक होती थी, लेकिन अब उनके गोबर से भी आय होने लगी है। सौर ऊर्जा और राधनपुर में बने सोलर पार्क की उन्होंने चर्चा की। पर्यावरण का उल्लेख कर उन्होंने बताया कि पूरी दुनिया के अंदर भारत का नाम रोशन हुआ है। उन्होंने कोरोना काल में किए कामों का उल्लेख कर सरकार के कामों की जानकारी दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here