मुख्यमंत्री चौहान ने भारत को बताया विश्व गुरू, प्रधानमंत्री को बताया इन ऐतिहासिक नेताओं का संगम

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी में देश के 3-3 महान व्यक्तित्वों की असाधारण योग्यताओं को एक साथ देखकर सभी अचंभित हैं।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कार्यकाल के 8 वर्ष पूर्ण होने पर 30 मई शाम को नई दिल्ली में एक टीवी कार्यक्रम में प्रधानमंत्री मोदी को गांधी-पटेल-बोस की त्रिवेणी बताया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने 8 वर्ष के कार्यकाल में असाधारण और अद्भुत कार्य किये हैं। उन्होंने भारत-माता के भाल को वैश्विक स्तर पर गौरवान्वित किया है।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी में देश के 3-3 महान व्यक्तित्वों की असाधारण योग्यताओं को एक साथ देखकर सभी अचंभित हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने महात्मा गांधी की तरह स्वच्छता को जन-भागीदारी से जन-आंदोलन बनाया। नेताजी सुभाषचन्द्र बोस के प्रखर राष्ट्रवाद की तरह सफलतापूर्वक सर्जिकल स्ट्राइक और एयर स्ट्राइक को अंजाम दिया। सरदार वल्लभ भाई पटेल के रियासतों के एकीकरण के मार्ग पर चलते हुए कश्मीर से अनुच्छेद-370 को हटाया।

ये भी पढ़ें – जानिये, देश में तम्बाकू से प्रतिदिन कितने लोग तोड़ देते हैं दम?

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने इसके साथ ही उत्तर-पूर्व से भावनात्मक रिश्ता जोड़ते हुए न केवल विकास का मार्ग प्रशस्त किया, बल्कि अलगाववाद को भी खत्म कर दिया। मुख्यमंत्री ने कहा कि 8 वर्षों के कार्यकाल में प्रधानमंत्री मोदी के दृढ़ निश्चय से किये गये प्रयासों से देश के प्रति दुनिया का दृष्टिकोण बदला है। भारत को पुन: विश्व-गुरू के रूप में पहचान मिली है।

‘मैन ऑफ आयडियाज’ हैं प्रधानमंत्री मोदी
मुख्यमंत्री शिवराज ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी मैन ऑफ आयडियाज हैं। जन-हित में कार्यों को सफलतापूर्वक कैसे अंजाम तक पहुंचाया जाए, इसके लिए सदैव उनके दिमाग में आयडियाज मौजूद रहते हैं।

प्रधानमंत्री के साथ काम करने का मिला सौभाग्य
शिवराज ने बताया कि प्रधानमंत्री मोदी के साथ लम्बे समय से काम करने का सौभाग्य मिला है। उनके साथ वर्ष 1991 में यात्रा तब शुरू हुई थी, जब मोदी एकता यात्रा के प्रभारी और वे स्वयं (शिवराज) केसरिया वाहनी के संयोजक बने। यात्रा में उनकी संवेदनशीलता का बोध हुआ।

 सहकारी संघवाद को मिला बढ़ावा
मुख्यमंत्री ने टीवी कार्यक्रम में बताया कि प्रधानमंत्री मोदी के प्रयासों से सहकारी संघवाद को बढ़ावा मिला है। उन्होंने योजना आयोग के स्थान पर नीति आयोग का गठन कर सभी मुख्यमंत्रियों को गवर्निंग बॉडी में शामिल कर सहकारी संघवाद को नया आयाम दिया। प्रधानमंत्री मोदी ने कोरोना संकट काल में राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ नियमित रूप से 27 बैठकें की। उनकी कल्पनाशीलता से हम मध्यप्रदेश में हर शहर और गांव के जन्म-दिन को गौरव दिवस के रूप में मना रहे हैं। आज मध्यप्रदेश प्रधानमंत्री मोदी के मार्गदर्शन और विश्वास के कारण प्रधानमंत्री आवास योजना, उज्जवला योजना, गरीब कल्याण अन्न योजना, मातृ-वंदना योजना के क्रियान्वयन में नम्बर-1 है।

टॉप-20 स्वच्छ शहरों में मध्यप्रदेश के पांच शहर
मुख्यमंत्री ने बताया कि जन-भागीदारी से स्वच्छता को जन-आंदोलन बनाने का जो मूल मंत्र प्रधानमंत्री मोदी ने दिया है, उसे मध्यप्रदेश की जनता ने दिल से अपनाया है। आज इंदौर लगातार 5 वर्षों से नम्बर-1 पर आ रहा है। देश के टॉप-20 स्वच्छ शहरों में 5 शहर मध्यप्रदेश के हैं। प्रधानमंत्री मोदी के जन-भागीदारी मंत्र को अपनाते हुए मध्यप्रदेश में “एडाप्ट एन आंगनवाड़ी कैम्पेन” चलाया जा रहा है।

विश्व को नेतृत्व प्रदान कर रहे हैं मोदी
उन्होंने कहा कि आज प्रधानमंत्री मोदी की बात को पूरी दुनिया ध्यानपूर्वक सुनती है। प्रधानमंत्री देश और विश्व को नेतृत्व प्रदान कर रहे हैं। कार्बन उत्सर्जन, सौर ऊर्जा, प्राकृतिक खेती जैसे क्षेत्रों में भारत विश्व का नेतृत्व कर रहा है। प्रधानमंत्री मोदी ने भारत की सनातन संस्कृति को दुनिया में स्थापित किया है। योग और आयुर्वेद को उन्होंने दुनिया में प्रतिष्ठा दिलाई है। प्रधानमंत्री मोदी ने विकास के साथ भारतीय संस्कृति और अध्यात्म को नई ऊंचाइयां प्रदान की हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here