राष्ट्रपति चुनाव: ममता बनर्जी की बैठक में शामिल नहीं होंगे उद्धव ठाकरे, राऊत ने बताया कारण

संजय राऊत ने 12 जून को पत्रकारों से कहा कि 11 जून को सोनिया गांधी ने राष्ट्रपति चुनाव को लेकर शरद पवार समेत विपक्ष के नेता से संपर्क किया था।

शिवसेना प्रवक्ता और राज्यसभा सदस्य संजय राऊत ने कहा कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की ओर से राष्ट्रपति चुनाव के संबंध में बुलाई गई 15 जून की बैठक में शिवसेना का कोई न कोई प्रमुख नेता हिस्सा लेगा। इस बैठक का निमंत्रण ममता बनर्जी ने मुख्यमंत्री को दिया है। मगर मुख्यमंत्री बैठक में मौजूद नहीं रहेंगे।

राऊत ने 12 जून को पत्रकारों से कहा कि 11 जून को सोनिया गांधी ने राष्ट्रपति चुनाव को लेकर शरद पवार समेत विपक्ष के नेता से संपर्क किया था। इससे पहले पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने एक पत्र लिखकर बैठक के लिए शिवसेना सहित गैरभाजपा दलों के नेताओं तथा मुख्यमंत्रियों को आमंत्रित किया है। यह निमंत्रण महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को भी आया है, लेकिन मुख्यमंत्री पहले से ही तय कार्यक्रम की वजह से बैठक में नहीं जा सकेंगे, शिवसेना का एक प्रतिनिधि बैठक में मौजूद रहेगा।

संजय राऊत ने चुनाव आयोग पर लगाया ये आरोप
संजय राऊत ने केंद्रीय चुनाव आयोग तथा केंद्रीय गृह मंत्रालय पर राज्यसभा चुनाव में हस्तक्षेप करने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र के भाजपा नेताओं ने शिवसेना विधायकों सहित महाविकास आघाड़ी के कई विधायकों का मतदान रद्द करने की साजिश रची। उन्होंने कहा कि ”हमने विश्वासघात करने वाले विधायकों का नाम लिया है। हमने विधायकों के बारे में अपनी भावनाएं व्यक्त की हैं। हमारा उनका अपमान करने का इरादा नहीं है क्योंकि अगर हमें 2 दिन के लिए प्रवर्तन निदेशालय ( ईडी) मिल जाए तो फडणवीस भी शिवसेना को वोट देंगे।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here