नेताजी की 125वीं जयंतीः प्रधानमंत्री ने किया नमन, दिया यह संदेश

पूरा देश महान स्वतंत्रता सेनानी सुभाष चद्र बोस की 125 जंयती मना रहा है। प्रधानमंंत्री ने इस अवसर पर उन्हें नमन किया और उनकी देशभक्ति तथा त्याग को याद किया।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 23 जनवरी को नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती पर उन्हें नमन करते हुए कहा कि प्रत्येक भारतीय को राष्ट्र के लिए उनके महत्वपूर्ण योगदान पर गर्व है।

प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट कर कहा, “सभी देशवासियों को पराक्रम दिवस की ढेरों शुभकामनाएं। नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125वीं जयंती पर उन्हें मेरी आदरपूर्ण श्रद्धांजलि।” उन्होंने आगे कहा, “मैं नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती पर उन्हें नमन करता हूं। प्रत्येक भारतीय को हमारे राष्ट्र के लिए उनके महत्वपूर्ण योगदान पर गर्व है।”

पराक्रम दिवस के रुप में मनाया जा रहा है नेताजी की जयंती
बता दें कि सकार के निर्णय अनुसार नेताजी की जयंती हर वर्ष पराक्रम दिवस के रुप में मनाया जाएगा। प्रधानमंत्री इस अवसर पर कोलकाता में पराक्रम दिवस पर आयोजित समारोह को संबोधितस करेंगे। इससे पहले 22 जनवरी को उन्होंने नेताजी की जयंती की पूर्व संध्या पर ट्वीट करते हुए कहा था,” 23 जनवरी को भारत महान नेता नेताजी सुभाषचंद्र बोस की जयंती को पराक्रम दिवस के रुप में मनाया जाएगा। देश भर में आयोजित किए जा रहे विभन्न कार्यक्रमों में से एक विशेष कार्यक्रम गुजरात के हरिपुरा में भी आयोजित किया जाएगा।

हरिपुरा से नेताजी का संबध
गुजरात के हरिपुरा से नेताजी का विशेष संबंध रहा है। 1938 में ऐतिहासिक हरिपुरा अधिवेशन में नेताजी बोस ने कांग्रेस पार्टी का अध्यक्ष पद संभाला था। हरिपुरा में आयोजित कार्यक्रम को प्रधानमंत्री ने नेताजी के योगदान को सच्ची श्रद्धांजलि बताई।

राष्ट्रपति ने भी किया नमन
प्रधानमंत्री के साथ ही राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भी नेताजी को उनकी जयंती पर नमन किया।

बालासाहेब ठाकरे को भी जयंती पर प्रधानमंत्री ने किया नमन
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 23 जनवरी को शिवसेना के संस्थापक बाला साहेब ठाकरे की 96वीं जयंती पर उन्हें नमन करते हुये कहा कि उन्हें हमेशा एक उत्कृष्ट नेता के रूप में याद किया जाएगा।

प्रधानमंत्री मोदी ने एक ट्वीट में कहा, “मैं श्री बालासाहेब ठाकरे को उनकी जयंती पर श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं। उन्हें हमेशा एक उत्कृष्ट नेता के रूप में याद किया जाएगा जो हमेशा लोगों के साथ खड़े रहे।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here