शुरू हो गया ‘मंगल’ टीकाकरण

पीएम के हाथों शुरू हुआ कोविड-19 टीकाकरण कार्यक्रम। इस टीके की प्रतीक्षा पूरा विश्व लंबे समय से कर रहा था। भारत ने स्वदेशी टीकों से इस महामारी से लड़ने का बीड़ा उठाया है। भारत में शुरू हुआ टीकाकरण अभियान विश्व का सबसे बड़ा अभियान है।

देश में कोविड-19 से रक्षा के लिए मंगल टीकाकरण अभियान की शुरुआत हो गई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की उपस्थिति में देश के सबसे बड़े टीकाकरण अभियान का श्रीगणेश हुआ। पीएम ने कहा कि यह टीकाकरण कार्यक्रम मानवता के हेतु चलाया जा रहा है।

देश के 3,006 केंद्रों पर टीकाकरण की शुरुआत की गई है। प्रत्येक केंद्र पर 100 अग्रिम पंक्ति के कर्मचारियों को ये टीका दिया जाएगा। देश में इस श्रेणी में तीन करोड़ लोगों का टीकाकरण किया जाना है। ये सभी निशुल्क होगा। टीकाकरण अभियान चरणबद्ध तरीके से संपन्न होगा।

ये भी पढ़ें – बाइडन देंगे अमेरिकियों को ये भेंट!

ये भी पढ़ें – सोमैया ने शरद पवार को क्यों ललकारा?

पीएम के संबोधन की मुख्य बातें

  • पीएम ने कहा कि, पहले चरण में तीन करोड़ लोगों का टीकाकरण किया जाएगा अगले चरण में इस आंकड़े को तीस करोड़ लोगों तक पहुंचाया जाएगा।
  • वैज्ञानिकों ने दो स्वदेशी टीकों को अनुमति दी है। आप अफवाहों पर ध्यान न दें।
  • भारतीय टीका वैश्विक स्तर पर मान्यता प्राप्त है। आज हमने अपना टीका विकसित किया है। विश्व, भारत की ओर देख रहा है। जैसे-जैसे हमारा टीकाकरण आगे बढ़ेगा अन्य देश भी इससे लाभान्वित होंगे। हमारा टीका और हमारी निर्माण क्षमता का उपयोग मानव की भलाई के लिए किया जाएगा।
  • हमारे वैक्सीन पहले उन लोगों को दिये जा रहे हैं जो अधिक खतरे में हैं।
  • जो भी वैज्ञानिक इस टीका निर्माण की रिसर्च में लगे हुए थे वे बंधाई के पात्र हैं।
  • टीका लगवाने के बाद मास्क निकालने की गलती न करें, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें क्यों कि रोग प्रतिरोधक क्षमता दूसरे टीके के बाद विकसित होती है।
  • कई देशों ने अपने नागरिकों को चीन में ही महामारी काल में छोड़ दिया लेकिन हम अपने नागरिकों को वहां से बाहर निकालकर वापस देश लाए।
  • दूसरा टीका लगवाना ना भूलें।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here