किंग खान के साहबजादे आर्यन पर महबूबा मुफ्ती का ऐसा ट्वीट… ‘मुस्लिम ब्रदरहुड’ कार्ड तो नहीं?

पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती का विवादों से पुराना नाता रहा है। दो दिन भी पहले जब कश्मीर में पाक प्रायोजित आतंकवाद में हिंदू मारे जा रहे थे, उस समय भी वे पाकिस्तान से बातचीत की पैरवी कर रही थीं।

महबूबा मुफ्ती का मुस्लिम ब्रदरहुड कार्ड मुंबई पहुंच गया है। जहां उन्होंने बॉलीवुड अभिनेता शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान की गिरफ्तारी के पीछे ‘खान’ सरनेम को कारण बताया है। इस प्रकरण में महबूबा मुफ्ती ने भाजपा पर निशाना साधा है, और इसके लिए जातिवाद का कार्ड खेला है।

महबूबा मुफ्ती के राज्य कश्मीर में पिछले आठ दिनों में आतंकियों ने चुन-चुनकर हिंदुओं की हत्या है, जिस पर वह चुप हैं। सोमवार को पांच सुरक्षा कर्मियों की शहादत पर भी कश्मीरी महबूबा चुप्पी साधे हुए हैं। लेकिन शाहरुख खान के बेटे की ड्रग्स प्रकरण में गिरफ्तारी के पीछे उन्हें खान सरनेम होना ही कारण लगता है।

ये भी पढ़ें – न नेता, न कार्यालय… ऐसा है ‘अर्बन नक्सल’ का नया उग्रवादी षड्यंत्र ‘एंटिफा’!

 

जम्मू कश्मीर में मक्खनलाल बिंद्रू, गोलगप्पे वाले विरेंद्र पासवान, स्कूल की मुख्याध्यापिका और शिक्षक समेत सात हिंदू पिछले एक सप्ताह में आतंक की बलि चढ़ गए। इसके अलावा सेना के पांच जवान भी कश्मीरियों की जान बचाने के प्रयत्न में वीरगति को प्राप्त हो गए, लेकिन इन घटनाओं पर महबूबी मुफ्ती से संवेदना का एक भी संदेश सामने नहीं आया है। इसके उलट आर्यन खान पर हिंदू मुसलमान की राजनीति जरूर उन्होंने शुरू कर दी है।

ये जिहाद की लड़ाई लड़ रही

कश्मीर घाटी की जितनी भी मुख्यधारा की पार्टियां हैं, सभी गलत अवधारणा बनाने का कार्य करती हैं, ये देश को खोखला करने का कार्य करती हैं और बांटने का कार्य करती हैं। ये पाकिस्तान और आईएसआई के पे-रोल पर हैं। मुख्यधारा की पार्टियां, अलगाववादी और आतंकी संगठनों में कोई अतंर नहीं है। ये पार्टियां जिहाद की लड़ाई लड़ती हैं, देश को बांटने के लिए कोई अवसर नहीं छोड़ती हैं।

ये पार्टियां सरकार को बचाने का भी काम करती हैं, इनके बयान सरकार की हिंदुओं के प्रति असफलता, सनातन धर्म के प्रति उपेक्षा की भावना को दबा देते हैं और ऐसा दिखाती हैं कि सरकार हिंदुओं के लिए ही काम कर रही है।
अंकुर शर्मा – अध्यक्ष, इक्कजुट्ट जम्मू

भूल गईं बहन का अपहरण
बता दें कि, महबूबा मुफ्ती की बहन रुबिया सईद का 1989 में आतंकियों ने अपरहण कर लिया था। उस समय इनके पिता मुफ्ती मोहम्मद सईद गृहमंत्री थे। रुबिया सईद को छुड़ाने के बदले पांच आतंकियों को छोड़ना पड़ा था। इसके बाद भी महबूबा मुफ्ती का पाकिस्तान प्रेम जगजाहिर है।

महबूबा रही हैं विवादों में

  • महबूबा मुफ्ती की पार्टी पीडीपी ने कश्मीर का नया नक्शा जारी किया था, जिसमें अक्साई चीन और कराकोरम समेत लद्दाख के कुछ हिस्से को चीन के झंडेवाले लाल रंग और पीओके को पाकिस्तान के हरे रंग से दर्शाया था।
  • अमरनाथ यात्रा का विरोध जगजाहिर है। उनका एक बयान भी बड़े विवाद में रहा है, जिसमें उन्होंने कहा था कि हिंदू अमरनाथ यात्रा पर जाकर गंदगी फैलाते हैं।क्या है मुस्लिम ब्रदरहुड?
    मिस्र का पुराना और सबसे बड़ा इस्लामी संगठन था, जिसकी स्थापना 1928 में हसन अल बन्ना ने की थी। कश्मीर में मुस्लिम ब्रदहुड मॉडल का अर्थ है कि हिंदुओं और भारत सरकार के विरुद्ध मुस्लिम एक होकर लड़ें और सनातन भारतीय संस्कृति व देश को क्षति पहुंचाएं। इसी की आड़ में भारत के विरुद्ध पाकिस्तान प्रायोजित आतंकवाद का बड़ा षड्यंत्र चल रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here