भाजपा सरकार का विरोध, भेंट चढ़ गई नुपुर शर्मा और नवीन जिंदल

भारत के विरुद्ध सोशल मिडिया पर दुष्प्रचार किये जाने के बीच भाजपा प्रवक्ता नुपुर शर्मा का टीवी डिबेट वायरल हो गया। जिसने पाकिस्तानी एजेंसियों को बड़ा हथियार दे दिया, इस्लामी कार्ड खेलकर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारत की किरकिरी करने के लिए। इस कार्य में पाकिस्तान प्रायोजित संगठन और वित्त पोषित पत्रकार, सामाजिक कार्यकर्ताओं कोई कसर नहीं छोड़ी।

भारतीय जनता पार्टी की प्रवक्ता नुपुर शर्मा को निलंबित कर दिया गया, उनके साथ ही दिल्ली भाजपा के प्रवक्ता नवीन जिंदल की सदस्यता भी समाप्त कर दी गई। हिंदू देवी देवताओं के अस्तित्व को लेकर विरोधाभासी, अपमानजनक बयान देनेवालों को उत्तर देते हुए जो बातें नुपुर शर्मा ने कहीं, उसकी जांच इस्लाम की किताबों से की जा सकती है। परंतु, इसे मुद्दा बनाकर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर चाल चली गई, जिसकी टूलकिट पाकिस्तान परस्त संगठनों ने तैयार की थी। इस टूलकिट के अंतर्गत भारत के विरुद्ध दुष्प्रचार करने में अमेरिका का उपयोग बड़े स्तर पर किया जा रहा है।

पाकिस्तानी टूलकिट, अमेरिका बना मंच
पाकिस्तान ने भारत के विरुद्ध अंतरराष्ट्रीय स्तर पर लॉबिंग करने के लिए लॉबिंग ग्रुप को ठेका दिया था। जिसमें से एक था कश्मीर ऐक्शन नेटवर्क (केएएन), यह संगठन अमेरिका से संचालित विभिन्न संगठनों के साथ भारत विरोधी गतिविधियों में लगा हुआ है। इसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरकार के विरुद्ध बड़े स्तर पर गलत जानकारियां वैश्विक रूप फैलाई जा रही हैं। कश्मीर को लेकर गलत जानकारियां कश्मीर ऐक्शन नेटवर्क का प्रमुख एजेंडा है, जिसमें वह विभिन्न लोगों के माध्यम से झूठी खबरें फैला रहा है।

इंडियन अमेरिकन मुस्लिम काउंसिल (आईएएमसी) नामक अमेरिका से संचालित होनेवाला संगठन भारत के विरुद्ध तेजी से कार्य कर रहा है। इस संगठन का पाकिस्तान से सीधा संबंध है, इसके अलावा अंतरराष्ट्रीय आतंकी संगठनों को धन उपलब्ध कराने में इसका नाम आता रहा है। मोदी सरकार के विरुद्ध यह अतंरराष्ट्रीय स्तर पर कार्य कर रहा है और नुपुर शर्मा के बयान को इस्लामी राष्ट्रों के बीच गलत रूप से प्रस्तुत करने में इसका प्रमुख स्थान रहा है।

अमेरिका से संचालित एक और संस्था जिसका नाम कायर (सीएआईआर) है, वह लिखती है कि, अमेरिका में मुस्लिम अधिकारों के लिए वह कार्य करती है, लेकिन उसके दुष्प्रचार में पाकिस्तान समर्थन और भारत सरकार का विरोध ही दिखता है। नुपुर शर्मा के विरुद्ध चले टूलकिट कैंपेन का यह संगठन भी हिस्सा है।

ऑर्गेनाइजेशन ऑफ इस्लामिक कोऑपरेशन का हिंदू द्वेष और भारत के विरुद्ध प्रचार का लंबा इतिहास है। इसमें पाकिस्तान, तुर्की, कतर जैसे देश जिनका भारत के प्रति द्वेष सर्वविदित है। ओआईसी में विश्व के 57 इस्लामी देश शामिल हैं।

सी.जे वेर्लेमैन नामक पत्रकार भारत विरोधी गतिविधियों में लंबे काल से लगा रहा है। इस्लाम को लेकर अनायास के आरोप लगानेवाले ट्वीट भेजना उसका कार्य है।

नुपुर शर्मा के प्रकरण में वेर्लेमैन ने एक ट्वीट को रिट्वीट किया है, जिसमें अल कायदा के उस पत्र को ट्वीट में साझा किया है, जिसमें भारत में आत्मघाती हमले की चेतावनी दी गई है।

प्रधानमंत्री मोदी के विरुद्ध भी षड्यंत्र
पाकिस्तान के ट्रोलर्स के निशाने पर भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का सोशल मीडिया एकाउंट भी रहा है। सूत्रों के अनुसार प्रधानमंत्री के ट्वीट को बड़े स्तर पर नकारात्मक कमेंट किया जा रहा था, जब इसकी जांच हुई तो पता चला कि, यह सब पाकिस्तान से संचालित हो रहा है। जिसके तार पाकिस्तान के अलावा गल्फ देशों से जुड़े हुए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here