पाकिस्तान ने इस फैसले के लिए की अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडन की प्रशंसा!

पाकिस्तान के प्रधान मंत्री द्वारा जो बाइडन की प्रशंसा करने के पीछे अमेरिका का एक महत्वपूर्ण बयान बताया जा रहा है। अमेरिका ने कहा है कि उसे उम्मीद है कि पाकिस्तान अफगानिस्तान में अराजकता को समाप्त करेगा।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान अफगानिस्तान के हालात बिगड़ने के लिए हमेशा से अमेरिका को जिम्मेदार ठहराते आए हैं। वे इस बात से भी नाराज हैं कि अमेरिकी राष्ट्रपति ने अफगानिस्तान से अपनी सेना की वापसी के बाद उन्हें एक फोन तक नहीं किया। लेकिन अब पाक पीएम ने एक बात के लिए अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन की प्रशंसा की है।

इमरान खान ने अफगानिस्तान से अमेरिकी सैनिकों को वापस बुलाने के अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन के फैसले की प्रशंसा करते हुए कहा है कि यह एक “समझदार कदम” था। उन्होंने यह भी कहा कि बाइडन की गलत तरीके से आलोचना की जा रही है। खान ने 17 सितंबर को एक रूसी समाचार चैनल को बताया कि “राष्ट्रपति बाइडन की अनुचित आलोचना की जा रही है और उन्होंने जो किया है, वह एक समझदार कदम है।”

प्रशंसा के पीछे का कारण
पाकिस्तान के प्रधान मंत्री द्वारा जो बाइडन की प्रशंसा करने के पीछे अमेरिका का एक महत्वपूर्ण बयान बताया जा रहा है। अमेरिका ने कहा है कि उसे उम्मीद है कि पाकिस्तान अफगानिस्तान में अराजकता को समाप्त करेगा। काबुल के तालिबान के हाथों में जाने से पहले अगस्त की शुरुआत में इस्लामाबाद में पत्रकारों से बात करते हुए, खान ने कहा था कि पाकिस्तान द्वारा सैन्य संसाधनों के निरंतर उपयोग के कारण देश पिछले 20 वर्षों से उथल-पुथल में है। लेकिन, कोई समाधान नहीं निकला।

ये भी पढ़ेंः पंजाब में अगला कैप्टन चुनना कांग्रेस के लिए बड़ी चुनौती! रेस में इन नेताओं के नाम

पहले की थी आलोचना
इससे पहले खान ने अफगान क्षेत्र से सैनिकों को वापस बुलाने के बाइडन के फैसले की बार-बार आलोचना की थी। जून के अंत में न्यूयॉर्क टाइम्स के साथ एक साक्षात्कार में, उन्होंने तालिबान पर अपना नियंत्रण खोने के लिए अमेरिकी सैनिकों  की वापसी को जिम्मेदार ठहराया था। खान ने कहा था, “जब से अमेरिका ने सैनिकों की वापसी की तारीख तय की है, तब से हमने तालिबान पर नियंत्रण खो दिया है।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here