जानिये, अनुच्छेद 370 को भारत का आंतरिक मामला बताने वाले पाकिस्तान के विदेश मंत्री ने क्यों लिया यू टर्न!

पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी जम्मू-कश्मीर को लेकर दिए अपने बयान को लेकर बुरे फंसे हैं।

जम्मू-कश्मीर को लेकर हमेशा विवादास्पद बयान देते रहने वाले पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी अपने ही बयान को लेकर बुरी तरह घिर गए हैं। विपक्ष के निशाने पर आने के बाद विदेश मंत्री को अब सफाई देने पर मजबूर होना पड़ रहा है।

बता दें कि हाल ही में एक इंटरव्यू में कुरैशी ने कहा था कि अनुच्छेद 370 भारत का आंतरिक मामला है और उससे पाकिस्तान का कोई लेनादेना नहीं है।

अब दी ये सफाई
विदेश मंत्री के इस बयान पर विपक्षी पार्टियां उनकी जमकर आलोचना कर रही हैं। उसके बाद उन्होंने यू टर्न ले लिया है। उन्होंने ट्विट कर कहा कि अनुच्छेद 370 कभी भी भारत का आंतरिक मामला नहीं हो सकता।

भारत में गंभीरता से नहीं लिए जाते उनके बयान
भारत में पाकिस्तानी मंत्रियों और नेताओं के बयानों को वैसे भी गंभीरता से नहीं लिया जाता और न उन पर देश के बड़े नेता तथा मंत्री कोई प्रतिक्रिया देना जरुरी समझते हैं। कुरैशी के बयान देने और फिर मुकर जाने को लेकर भी भारत में मीडिया को छोड़कर किसी ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है।

कुरैशी ने दिया था ये बयान
सोशल मीडिया पर कुरैशी के इंटरव्यू का एक वीडियो वायरल हो रहा है। उसमें वे कह रहे हैं कि अनुच्छेद 370 को हटाने से पाकिस्तान को कोई परेशानी नहीं है। यह हमारे लिए महत्व नहीं रखता। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान को जम्मू-कश्मीर से 35 ए हटाने पर आपत्ति है, क्योंकि इससे इंडियन डेमोग्राफी में बदलाव आ सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here