पंजाब में भाजपा- कांग्रेस एक साथ! जानिये, क्या है मुद्दा

सत्ता परिवर्तन के बाद पंजाब में फिर से परचा पॉलिटिक्स शुरू हो गई है। जिस मुद्दे को लेकर आम आदमी पार्टी सत्ता में आई, वही एफआईआर का सिलसिला फिर से चल पाड़ा है।

पंजाब में भाजपा कार्यकर्ताओं के खिलाफ लगातार दर्ज हो रही एफआईआर के बाद सभी राजनीतिक दलों ने एकजुटता से मान सरकार को घेर लिया है। पंजाब कांग्रेस प्रभारी हरीश रावत ने ट्वीट करके पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान पर निशाना साधते हुए कहा कि पंजाब पुलिस का इस्तेमाल पंजाब वासियों की सुरक्षा के लिए करें न की अरविंद केजरीवाल की सुरक्षा के लिए किया जाए।

पंजाब भाजपा के प्रदेश सचिव सुभाष शर्मा ने इस घटनाक्रम की निंदा करते हुए कहा कि बदले की राजनीति को बंद कर पंजाब के विकास की तरफ ध्यान दें। गारंटियों को पूरा नहीं कर पाने में फेल हो रही आप सरकार अब अपनी झेंप मिटाने के चक्कर में भाजपा कार्यकर्ताओं को निशाना बना रही है।

केजरीवाल पर दुश्मनी निकालने का आरोप
सुभाष शर्मा ने कहा कि अरविंद केजरीवाल अपनी निजी दुश्मनी निकालने के लिए पंजाब पुलिस का इस्तेमाल कर रहे हैं। पहले तेजिंदर बग्गा और अब कुमार विश्वास के घर पुलिस का जाना दर्शाता है कि भगवंत मान ने केजरीवाल के आगे घुटने टेक दिए हैं। पंजाब का रब राखा।

 केजरीवाल के खिलाफ सोशल मीडिया पर टिप्पणी पड़ी महंगी
पंजाब में सत्ता परिवर्तन के बाद दूसरे दलों के नेताओं व कार्यकर्ताओं के खिलाफ मामले दर्ज करने की प्रथा बहुत पुरानी है। अमरिंदर सरकार के समय शुरू हुई यह परंपरा आम आदमी पार्टी सरकार में भी जारी है। फर्क केवल इतना है कि इस बार निशाने पर अकाली दल या कांग्रेस नहीं बल्कि भारतीय जनता पार्टी है। ताजा मामला कवि एवं प्रो. कुमार विश्वास से संबंधित है, जिनके खिलाफ रोपड़ में मामला दर्ज किया गया है।

कैप्टन ने शुरू की थी एफआईआर की राजनीति
पंजाब में एफआईआर की राजनीति वर्ष 2002 में कैप्टन अमरिंदर सिंह की सरकार में शुरू हुई थी जब पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल के खिलाफ मामला दर्ज करके उन्हें जेल भेजा गया था। उसके बाद पंजाब में सत्ता परिवर्तन के बाद दूसरे दलों के खिलाफ मामले दर्ज किए गए।

सत्ता में आते ही बदल गए केजरीवाल
हालिया चुनाव के दौरान मुख्यमंत्री भगवंत मान व अरविंद केजरीवाल ने पंजाब से परचा पॉलिटिक्स को समाप्त करने का ऐलान किया था लेकिन सत्ता में आने के बाद फिर से यह सिलसिला शुरू हो गया है। पंजाब के रूपनगर की पुलिस ने गत दिवस कुमार विश्वास के खिलाफ आईटी एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है।

परचा पॉलिटिक्स का आरोप
सत्ता परिवर्तन के बाद भी फिर से परचा पॉलिटिक्स शुरू हो गई है। जिस मुद्दे को लेकर आम आदमी पार्टी सत्ता में आई वही एफआईआर का सिलसिला फिर से चल पाड़ा है। पंजाब में एक के बाद एक चार भाजपा नेताओं के खिलाफ मामले दर्ज किए जा चुके हैं। भाजपा नेताओं के खिलाफ मोहाली में मामले दर्ज किए जा रहे हैं।

कुमार विश्वास के बयान पर हुआ था हंगामा
पंजाब में चुनाव से पहले कुमार विश्वास के बयान पर खूब हंगामा हुआ था। पंजाब पुलिस की तरफ से अरविंद केजरीवाल और आम आदमी पार्टी के खिलाफ बयानबाजी पर मोहाली स्थित साइबर क्राइम सेल में केस दर्ज किए जा रहे हैं। इससे पहले दिल्ली भाजपा नेता तेजिंदर बग्गा, नवीन कुमार जिंदल और प्रीति गांधी पर भी केस दर्ज हो चुका है। इससे पहले भाजपा दिल्ली के प्रवक्ता नवीन कुमार जिंदल के खिलाफ आप के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल का एक फर्जी वीडियो साझा करने के आरोप में सात अप्रैल को मामला दर्ज किया गया था।

बग्गा पर मामला दर्ज
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी करने वाले दिल्ली से भाजपा के प्रवक्ता तजिन्दर बग्गा खिलाफ पटियाला थाने में एफआईआर की गई है। इसी प्रकार भाजपा नेत्री प्रीति गांधी के खिलाफ भी मोहाली में मामला दर्ज किया जा चुका है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here