तब तो ‘नवाब’ के निशाने पर शिवसेना भी?

महाविकास आघाड़ी सरकार में केंद्रीय जांच एजेंसियां प्रदेश के कई प्रकरणों की जांच और कारवाई कर रही हैं। इन पर लंबे समय से राज्य सरकार द्वारा आरोप लगा जाते रहे हैं। लेकिन पिछले कुछ दिनों से महाराष्ट्र के एक मंत्री द्वारा सीधा हमला शुरू हो गया है।

राष्ट्रवादी कांग्रेस के नेता नवाब मलिक ने अपने आरोपों की मालिका में भाजपा-शिवसेना गठबंधन (युति सरकार) सरकार के काल में फर्जी नोटों के रैकेट संचालित होने का आरोप लगाया है। उन्होंने अपने आरोप में केंद्र सरकार द्वारा लगाई गई नोटबंदी का उल्लेख करते हुए उस काल में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री रहे देवेंद्र फडणवीस पर रैकेट संचालन का आरोप लगाया है। जिससे शिवसेना के नेतृत्ववाली महाविकास आघाड़ी सरकार के मंत्री नवाब मलिक के निशाने पर शिवसेना भी आ गई है।

गठबंधन सरकार में सभी कार्यकलापों की जिम्मेदारी उस पूरी सरकार पर ही होती है। परंतु, आरोपों के हाइड्रोजन बम फोड़नेवाले नवाब मलिक को इसका भान नहीं है, उन्होंने नोटबंदी काल में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री रहे देवेंद्र फडणवीस पर आरोप लगाया है कि उनके आशीर्वाद से ही राज्य में नकली नोटों का गिरोह चल रहा था। फडणवीस भाजपा शिवसेना की युति सरकार के मुखिया थे। इसके कारण अब नवाब मलिक के बम के अंश शिवसेना को घायल कर दें तो आश्चर्य नहीं है।

ये भी पढ़ें – आखिर ऐसा क्या हुआ कि सीएम योगी के दौरे के दूसरे ही दिन कैराना के खौफ फुरकान ने किया ऐसा!

बता दें कि, ड्रग्स रैकेट में अभिनेता शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान की गिरफ्तारी के बाद से ही नवाब मलिक ने एक के बाद एक आरोप लगाना शुरू कर दिया है, जबकि ड्रग्स रैकेट का भंडाफोड़ अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मृत्यु के बाद हुआ था। नवाब मलिक ने आरोपों में अपने दामाद समीर खान की गिरफ्तारी का भी मुद्दा उठा लिया। इस पूरे प्रकरण में नार्कोटिक कंट्रोल ब्यूरो के कार्यकलाप, उसके विभागीय संचालक समीर वानखेडे पर गंभीर आरोप, वानखेडे की जाति, विवाह पद्धति पर सवाल समेत कई आरोप नवाब मलिक लगाते रहे हैं। इसी में उनके आरोपों की मालिका में भारतीय जनता पार्टी भी आ गई। नवाब मलिक का आरोप है कि उनके दामाद की गिरफ्तारी पर भाजपा ने उन पर निजी आरोप किये थे।

फडणवीस का वो ट्वीट किसके लिए?
नवाब मलिक के आरोपों पर देवेंद्र फडणवीस ने कोई उत्तर नहीं दिया है, परंतु उनका एक ट्वीट बहुत चर्चा में है। इस ट्वीट में उन्होंने जॉर्ज बरनार्ड शॉ के कथन को प्रकट किया है, जो इस प्रकार है।

मैंने बहुत पहले ही यह सीखा है कि, कुश्ती सूअर से नहीं लड़नी चाहिए।
आप तो गंदे होते हैं लेकिन, सूअर उसका आनंद लेता है।

नवाब के आरोप

  • 8 नवंबर 2016 के केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने देश में नोटबंदी लागू कर दी। इस काल में महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री ने चलाया नकली नोटों का रैकेट
  • बनावटी नोटों के जब्ती के प्रकरण मुख्यमंत्री ने दबाए, बीकेसी में 8 अक्टूबर 2017 से बरामद 14 करोड़ 56 लाख के नकली नोटों का आरोप लगाया। जिसमें मात्र 8 लाख 80 हजार रुपए जब्त हुए बताए गए।
  • नकली नोटों के व्यवसाय को दबाने में देवेंद्र फडणवीस का हाथ, इस व्यवसाय का संबंध आतंकी दाऊद, बांग्लादेश और पाकिस्तान से होने का किया दावा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here