पीएम मोदी से मिले शरद पवार! महाविकास आघाड़ी सरकार में कुछ गड़बड़ तो नहीं?

पीएमओ ने फोटो के साथ ट्वीट करते हुए लिखा है, 'राज्यसभा सांसद शरद पवार पीएम नरेंद्र मोदी से मिले।' दो दिग्गज नेताओं की इस मुलाकात को लेकर तरह-तरह की अटकलें लगाई जा रही हैं।

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी प्रमुख शरद पवार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की है। यह मुलाकात पीएम आवास पर हुई है। इन दो दिग्गज नेताओं की इस मुलाकात ने देश की राजनीति में सरगर्मी बढ़ा दी है।

मिली जानकारी के अनुसार पीएम मोदी और राकांपा प्रमुख पवार की यह मुलाकात लगभग 50 मिनट तक चली। इस मुलाकात को लेकर कई तरह की चर्चा शुरू हो गई है। इससे पहले पवार 16 जुलाई को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल से भी मिले थे।

पीएमओ ने ट्वीट कर दी जानकारी
इस मुलाकात के बारे में पीएमओ ने ट्वीट कर जानकारी दी है। पीएमओ ने फोटो के साथ ट्वीट करते हुए लिखा है, ‘राज्यसभा सांसद शरद पवार पीएम नरेंद्र मोदी से मिले।’ दो दिग्गज नेताओं की इस मुलाकात को लेकर तरह-तरह की अटकलें लगाई जा रही हैं।

पवार को राष्ट्रपति बनाए जाने की चर्चा
बता दें कि हाल ही में  शरद पवार को राष्ट्रपति के उम्मीदवार बनाए जाने की चर्चा गरम थी। हालांकि पवार ने इस पद के लिए विपक्षी पार्टियों के उम्मीदवार बनने से इनकार किया था। उन्होंने सत्ताधारी एनडीए के सांसदों की संख्या को देखते हुए इस पद के लिए विपक्ष के उम्मीदवार बनने से मना कर दिया था। अब इस मुलाकात को लेकर नए राजनैतिक समीकरण बनने को लेकर चर्चा तेज हो गई है।

ये भी पढ़ेंः पंजाब में कैप्टनशिप खतरे में! अमरिंदर सिंह के लेटर और सिद्धू के घर उन गुलदस्तों का क्या है राज?

हाई अलर्ट पर शिवसेना-कांग्रेस
इस मुलाकात को पवार के राष्ट्रपति बनाए जाने के साथ ही महाराष्ट्र की राजनीति से भी जोड़कर देखा जा रहा है। बता दें 2022 में मुंबई महानगरपालिका का चुनाव होना है। इसके साथ ही महाराष्ट्र विधानसभा के अध्यक्ष का भी चुनाव होना है। हालांकि इन मुद्दों पर इस मुलाकात में कोई बात हुई या नहीं, इस बारे में जानकारी नहीं मिल पाई है, लेकिन इन दिग्गज नेताओं की इस मुलाकात से शिवसेना और कांग्रेस भी सतर्क हो गई है

पीयूष गोयल से भी मिले थे पवार
इससे पहले 19 जुलाई से संसद का मानसून सत्र प्रारंभ होने जा रहा है। इससे पहले 16 जुलाई को पीयूष गोयल ने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, शरद पवार और अन्य विपक्षी पार्टियों के नेताओं के साथ मुलाकात की थी। बताया जा रहा है कि पीयूष गोयल ने इन दिग्गज नेताओं से सत्र के दौरान सरकार को सहयोग करने का आग्रह किया। मानसून सत्र की शुरुआत 19 जुलाई से होगी और यह 13 अगस्त तक चलेगा। इस सत्र में सरकार ने 17 नए विधेयक लाने की तैयारी की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here