भोजन भी न करने दिया… ऐसे हुई नारायण राणे पर पुलिस कार्रवाई

नारायण राणे की गिरफ्तारी से राज्य का वातावरण गरमा गया है। भाजपा के नेता आक्रामक हैं और शिवसेना के कार्यकर्ता तोड़फोड़ के बाद अब जश्न मना रहे हैं।

एक थप्पड़ की बात से केंद्रीय कैबिनेट मंत्री नारायण राणे पुलिस थाने पहुंच गए। उन्हें रत्नागिरी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। जिस समय यह कार्रवाई हो रही थी उस समय नारायण राणे के हाथ भोजन की थाली थी।

महाराष्ट्र में जिस गति से कार्रवाई हो रही है, वैसी कार्रवाई यदि इसके पहले के प्रकरणों में होती तो शायद वर्तमान सरकार के कई मंत्री जेल की हवा खा रहे होते। परंतु, राज्य सरकार की शक्ति के आगे भाजपा के नारायण बौने साबित हुए। उन्हें संगमेश्वर के गुलवली गांव से उस समय पुलिस ने हिरासत में लिया जब वे भोजन कर रहे थे। इसको लेकर भाजपा नेता और राणे के सुपुत्रों ने विरोध भी किया। लेकिन, पुलिस ने महाड पुलिस थाने में दायर प्रकरण पर कार्रवाई करते हुए हिरासत में लेकर पुलिस थाने ले गई।

ये भी पढ़ें – मुख्यमंत्री पर ‘वो’ बयान पड़ा भारी… नारायण राणे हुए गिरफ्तार

नारायण भोजन तो करने दो – प्रसाद लाड
जन आशीर्वाद यात्रा के दौरान दोपहर में नारायण राणे भोजन के लिए बैठे थे। उसी समय हिरासत में लेने के लिए पुलिस पहुंची थी। जिसके बाद वहां मौजूद भाजपा विधायक प्रसाद लाड ने विनंती की थी कि भोजन करने दिया जाए। उन्होंने पुलिस को जानकारी दी कि नारायण राणे का स्वास्थ्य ठीक नहीं है, उनका ब्लड चेक, ईसीजी और शूगर जांच होनी है। आरोप है कि पुलिस ने एक न सुनी। पुलिस ने गिरफ्तारी का वारंट भी नहीं दिखाया। प्रसाद लाड का आरोप है कि नारायण राणे की जान को खतरा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here