अंतरराष्ट्रीय जलसीमा से भारतीयों को पकड़ा, प्रधानमंत्री से की गई हस्तक्षेप की मांग

सूचनाओं के अनुसार अपहरण किये गए जहाज कर्मियों की सुनवाई अब नाइजीरिया न्यायालय में होगी।

इक्यिटोरियल गिनिया से भारतीयों के हिरासत मे लिये जाने की सूचना सामने आई है। यह सभी पानी की जहाज में तैनात थे, जिसे इक्विटोरियल गीनिया की नौसेना ने कब्जे में ले लिया है। जहाज में कुल 26 कार्मचारी हैं, जिसमें से 16 भारतीय हैं।

केरल के मुख्यमंत्री पिनरायी विजयन ने प्रधानमंत्री को पत्र लिखा है। जिसमें उन्होंने बताया है कि, 12 अगस्त को अंतरराष्ट्रीय जल सीमा से इक्विटोरियल गिनिया और नाइजीरिया देशों के अंतर्गत नॉर्वे की जहाज एमटी हेरोइक इडन को कब्जे में लिया गया है। इसमे 16 भारतीय कर्मचारी थे, जिसमें से 3 केरल से हैं। इन सभी को छुड़ाने के लिए प्रधानमंत्री हस्तक्षेप करें और स्थानीय भारतीय दूतावास को प्रशासन से संपर्क करने का आदेश दिया जाए।

ये भी पढ़ें – आखिरकार इंटरनेशनल हलाल शो रद्द, हिंदुत्वादी संगठनों की मांग पूरी

ये है आरोप
इक्विटोरियल गिनिया का आरोप है कि, एमटी हेरोइक इडन ने सागरी कानून का उल्लंघन करते हुए उसकी जलसीमा में प्रवेश किया है। जहाज के पास कोई अनुमति नहीं थी। जिसके बाद नौसेना ने जहाज जो अपने कब्जे में ले लिया और उस पर तैनात नाविकों को हिरासत में भेज दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here