राकांपा नेता और पूर्व मंत्री जीतेंद्र आव्हाड पर छेड़छाड़ का मामला दर्ज

जितेंद्र आव्हाड का कहना है कि पुलिस मेरे खिलाफ पिछले 72 घंटे में दो झूठे केस दर्ज कर चुकी है। मैंने विधायक पद से इस्‍तीफा देने का फैसला किया है। हम लोकतंत्र की हत्‍या नहीं देख सकते है।

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) नेता और पूर्व मंत्री जीतेंद्र आव्हाड के विरुद्ध भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की एक महिला कार्यकर्ता ने मुंब्रा पुलिस स्टेशन में छेड़छाड़ का मामला दर्ज करवाया है। जीतेंद्र आव्हाड ने कहा उनके विरुद्ध 72 घंटे में साजिश के तहत यह दूसरा मामला दर्ज करवाया गया है। यह लोकशाही की हत्या है। इसलिए वे अब अपने विधायक पद का इस्तीफा देंगे और लोकशाही की रक्षा की लड़ाई लड़ेंगे।

जीतेंद्र आव्हाड पर मामला दर्ज होने के बाद राकांपा कार्यकर्ताओं ने मुंब्रा पुलिस स्टेशन के सामने प्रदर्शन शुरू कर दिया। कई जगह टायर जलाकर मामला दर्ज करने का विरोध हो रहा है। पुलिस स्टेशन के बाहर प्रदर्शन कर रहे राकांपा कार्यकर्ताओं का कहना है कि जिस महिला ने जीतेंद्र आव्हाड पर छेड़छाड़ मामला दर्ज करवाया है, उस पर अट्रासिटी एक्ट के तहत मामला दर्ज किया जाना चाहिए। इन कार्यकर्ताओं ने कहा कि संबंधित महिला ने एक दलित कार्यकर्ता को जातिवाचक गाली दी है और उसकी पिटाई भी की है। यह मामला दर्ज करवाने के लिए दलित कार्यकर्ता मुंब्रा पुलिस स्टेशन में मिन्नतें कर रहा है, जबकि पुलिस तकनीकी कारण बता रही है।

यह भी पढ़ें – मध्य प्रदेश: धर्मांतरण मामले का खुलासा, 10 के खिलाफ केस दर्ज!

उल्लेखनीय है कि 13 नवंबर को मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने ठाणे में कलवा पुल का उद्घाटन किया था। इसी कार्यक्रम में जीतेंद्र आव्हाड भी उपस्थित थे। इसी कार्यक्रम में भाजपा कार्यकर्ता रिदा राशिद ने जीतेंद्र आव्हाड पर छेड़छाड़ का आरोप लगाया और देर रात मुंब्रा पुलिस स्टेशन में आव्हाड के विरुद्ध मामला दर्ज करवाया।

महिला ने अपनी शिकायत में कहा है कि आव्हाड ने उन्हें जबरन पकड़ लिया और धक्का दिया। इससे उनके साथ छेड़छाड़ हुई है। इसके बाद राकांपा कार्यकर्ता सहित कई संगठनों के पदाधिकारी सड़कों पर उतरकर पुलिस के विरोध में प्रदर्शन कर रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here