भारतीय तेजस खरीदने को इच्छुक अर्जेंटीना, जी-20 में सहयोग पर सहमति

स्वदेशी निर्मित तेजस लड़ाकू विमान वैश्विक स्तर पर उल्लेखनीय प्रदर्शन करता रहा है। इसके कारण अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कई देश इसे खरीदने की इच्छा व्यक्त करते रहे हैं। यह बहुत ही हल्का लड़ाकू विमान है।

अर्जेंटीना के दौरे पर पहुंचे भारत के विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर और अर्जेंटीना के राष्ट्रपति व विदेश मंत्री के साथ मुलाकातें सकारात्मक रही हैं। भारतीय विदेश मंत्री के दो दिवसीय दौरे की समाप्ति के बाद जारी साझा बयान में बताया गया है कि अर्जेंटीना ने भारत में बने तेजस लड़ाकू विमान खरीदने में रुचि दिखाई है। इसके साथ ही जी-20 देशों के समूह की अध्यक्षता के लिए भी भारत का समर्थन किया है।

विदेश मंत्री की अर्जेंटीना में भेंट का दौर
भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर ने अपने इस दौरे में अर्जेंटीना के कई मंत्रियों के साथ विभिन्न विषयों पर चर्चा की। भारत और अर्जेंटीना के विदेश मंत्री सैंटियागो कैफिएरो की सह-अध्यक्षता में एक व्यापक और संयुक्त आयोग की बैठक भी हुई। इस बैठक में रक्षा, अंतरिक्ष और परमाणु मुद्दों सहित रणनीतिक क्षेत्रों पर व्यापक समीक्षा की गई। इसके अलावा दोनों देशों के बाजारों तक आपसी पहुंच, कृषि, पशुपालन, व्यापार और निवेश बढ़ाने पर भी विचार विमर्श हुआ।

ये भी पढ़ें – क्या अपने ही देश की गुप्तचरी करवा रहे थे पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति? 14 बक्सों में गोपनीय कागज मिले

तेजस चाहता है अर्जेंटीना
अर्जेंटीना ने अपनी वायु सेना के लिए ‘मेड इन इंडिया’ तेजस लड़ाकू विमानों में रुचि दिखाई है। दोनों देशों के साझा बयान में भी इस मुद्दे का उल्लेख किया गया है। भारतीय विदेश मंत्री ने अर्जेंटीना वायु सेना के लिए भारत में निर्मित तेजस लड़ाकू विमान में अर्जेंटीना की रुचि को स्वीकार करते हुए द्विपक्षीय संबंधों के रणनीतिक महत्व पर प्रकाश डाला।

भारत भी करेगा समर्थन
साझा बयान में माल्विनास द्वीप समूह के नाम से फ़ॉकलैंड द्वीप मुद्दे का उल्लेख है। भारत ने माल्विनास द्वीप समूह के प्रश्न से संबंधित संप्रभुता के मुद्दे का समाधान खोजने के लिए वार्ता को फिर से शुरू करने के लिए अपना समर्थन दोहराया। साझा बयान में कहा गया है कि अर्जेंटीना ने जी-20 देशों के समूह की अध्यक्षता के लिए भारत के प्रति अपने समर्थन की पुष्टि भी की है।

भारतीय विदेश मंत्री ने भारतीय समुदाय के साथ चाय पर चर्चा की। भारतीय विदेश मंत्री ने जनरल जोस डी सैन मार्टिन के स्मारक पर भी श्रद्धांजलि अर्पित की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here