‘राज की बात’… इसलिए अब महाराष्ट्र में होगा घंटानाद

राज्य में मंदिर बंदी, त्यौहारों पर प्रतिबंध को लेकर राजनीति गरम है। भाजपा के आंदोलन के बाद मनसे ने भी सरकार के विरुद्ध मोर्चा खोल दिया है।

महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के अध्यक्ष राज ठाकरे ने अपने कड़े तेवर में कहा है कि आनेवाले दिनों में मंदिरों के बाहर घंटानाद आंदोलन किया जाएगा। लंबे समय से मंदिर बंद हैं, त्यौहार मनाने पर लगातार पाबंदियां लगाई जा रही हैं, सरकार के इन निर्णयों पर राज ठाकरे ने जमकर प्रहार किया है।

महाराष्ट्र में कोविड-19 प्रतिबंधों के अनुरूप मंदिरों को बंद रखा गया। लेकिन इसके अलावा सभी उद्योग शुरू हो गए हैं। इस प्रतिबंध से सामान्य जन मंदिर में दर्शन पूजा के लिए नहीं जा पा रहे हैं तो दूसरी ओर मंदिरों पर निर्भर अर्थतंत्र पूरी तरह ठप पड़ गया है। इसे लेकर मंदिर खोलने की मांग मनसे सैनिकों ने किया है।

ये भी पढ़ें – सुरक्षाबलों के रडार पर जम्मू-कश्मीर के गायब हुए 60 युवक!

बालासाहेब के नाम भूमि हड़पी
राज ठाकरे ने छत्रपति शिवाजी पार्क के पास महापौर निवास में बन रहे शिवसेना प्रमुख बालासाहेब ठाकरे के स्मारक का मुद्दा भी उठाया। उन्होंने कहा कि बालासाहेब ठाकरे के नाम पर जमीन हड़प ली गई है, वहां गाड़ियों की आवाजाही थमी है क्या?

चुनाव और यात्रा से नहीं फैलता कोरोना
राज ठाकरे ने कहा कि, चुनाव, जनआशीर्वाद यात्रा से कोरोना नहीं फैलता, परंतु त्यौहार मनाने से कोरोना संक्रमण के बढ़ने का खतरा है, यह मनमानी है। जो उन्हें चाहिए उसकी अनुमति और जो दूसरों को चाहिए उसके लिए कोरोना प्रतिबंध बताकर ठप कर दिया जाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here