प्रधानमंत्री की सुरक्षा में चूकः हरियाणा के मंत्री ने बताया चन्नी के बयान को षड्यंत्र की स्वीकारोक्ति

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में चूक को लेकर पंजाब की चन्नी सरकार पर हमले बढ़ते जा रहे हैं। हरियाणा के मंत्री अनिल विज ने उनके बयान को लेकर उन पर निशाना साधा है।

हरियाणा की मनोहर लाल ठक्कर सरकार में गृह मंत्री अनिल विज ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में चूक को लेकर पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी के बयान को षड्यंत्र में शामिल होने की स्वीकारोक्ति बताया है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री चन्नी ने प्रधानमंत्री की सुरक्षा को लेकर जो बयान दिया है, उससे स्प्ष्ट हो जाता है कि प्रधानमंत्री को रैली स्थल तक नहीं पहुंचने का षड्यंत्र रचा गया था।

मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने कहा था कि देश में लोकतंत्र है, क्या हो गया, अगर लोग प्रधानमंत्री से बात करने सड़क पर आ गए। विज ने कहा कि यह स्पष्टीकरण नहीं, प्रधानमंत्री का रास्ता रोकने के षड्यंत्र में संलिप्त होने की स्वीकारोक्ति है।

मुख्यमंत्री ने बताया ड्रामा

 मुख्यमंत्री चन्नी ने इसे प्रधानमंत्री की नौटंकी बताते हुए कहा है कि सुरक्षा में कोई चूक नहीं हुई। उनकी जान को कोई खतरा नहीं था। यह लोकतांत्रिक तरीके से चुनी हुई सरकार को गिराने के उद्देश्य से किया गया है।

राजनैतिक भूचाल
पंजाब के फिरोजपुर में प्रस्तावित 5 जनवरी की रैली को रद्द होने से देश की राजनीति में भूचाल आया हुआ है। फिरोजपुर रैली स्थल से करीब 30 किमी दूर एक फ्लाीओवर के पास किसानों के विरोध के कारण उनका काफिला 20 मिनट तक रुका रहा और अंत में प्रधानमंत्री ने वहां से लौटने का निर्णय लिया। उसके बाद ने भठिंडा हवाई अड्डे से दिल्ली लौट आए। कांग्रेस जहां इसे लेकर प्रधानमंत्री और भारतीय जनता पार्टी पर निशाना साध रही है, वहीं भारतीय जनता पार्टी भी सोशल मीडिया पर करारा जवाब दे रही है।

 ट्विवट वॉर
पंजाब में 5 जनवरी को करीब 20 मिनट तक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का काफिला एक फ्लाईओवर पर फंसने के बाद से सियासत गरमा गई है। कांग्रेस का आरोप है कि यह एक साजिश है। मौसम खराब होने के साथ ही सभास्थल पर लोगों की भीड़ नहीं जुटने के कारण मोदी ने अपनी रैली रद्द कर दी तथा अब केंद्रीय गृह मंत्रालय इस बारे में पंजाब सरकार से रिपोर्ट के साथ हि जिम्मेदार लोगों पर कार्रवाई करने की मांग कर रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here