मिशन 2022 चुनावः उत्तर प्रदेश के इन मंत्रियों को मिला सुरक्षा का वरदान!

चुनाव से पहले और बाद में पश्चिम बंगाल में जिस तरह की हिंसा का गंदा खेल खेला गया, उससे सबक लेते हुए भारतीय जनता पार्टी की केंद्र सरकार ने अपने नेताओं को सुरक्षा का वरदान अभी से देना शुरू कर दिया है।

उत्तर प्रदेश के अगले साल के शुरुआती महीनों में ही विधानसभा चुनाव होने हैं। इस स्थिति में सभी राजनीतिक पार्टियां साम, दंड, भेद,भाव जैसे राजनैतिक हथियारों का इस्तेमाल कर रही हैं। चुनाव से पहले और बाद में पश्चिम बंगाल में जिस तरह की हिंसा का गंदा खेल खेला गया, उससे सबक लेते हुए भारतीय जनता पार्टी की केंद्र सरकार ने अपने नेताओं को सुरक्षा का वरदान अभी से देना शुरू कर दिया है।

केंद्र ने प्रदेश के डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा और कानून मंत्री ब्रजेश पाठक के साथ ही कुछ अन्य भाजपा नेताओं की सुरक्षा बढ़ा दी है। शर्मा को जेड प्लस और पाठक को जेड श्रेणी की सुरक्षा देकर उन्हें चुनाव में निर्भय होकर उतरने का सदेश दिया गया है।

खुफिया विभाग ने बताया था इनके जान को खतरा
मिली जानकारी के अनुसार खुफिया विभाग की रिपोर्ट में ब्रजेश पाठक और दिनेश शर्मा सहित कई नेताओं की जान को खतरा बताया गया था। उसके बाद राज्य सरकार ने इस रिपोर्ट की समीक्षा कर इनकी सुरक्षा बढ़ाने की सिफारिश केंद्र से की थी। केंद्र ने उस सिफारिश पर विचार करते हुए इन नेताओं को विशेष सुरक्षा देने का निर्णय लिया।

ये भी पढ़ेंः माफिया अतीक अहमद के बाद अब उसके बेटे की बारी! ईडी ऐसे कस रही है शिकंजा

क्या होती है जेड श्रेणी सुरक्षा?

  • जेड श्रेणी सुरक्षा में कुल 33 सुरक्षा गार्ड होते हैं।
  • अत्याधुनिक हथियारों से लैस वीआईपी को यह सुरक्षा दी जाती है।
  • इस फोर्स में 10 आर्म्ड स्टैटिक गार्ड वीआईपी के घर पर रहते हैं, जबकि छह राउंड द क्लॉक पीएसओ, तीन शिफ्ट में 12 आर्म्ड स्कॉट के कमांडो, दो वाचर्स शिफ्ट में और तीन ट्रेंड ड्राइवर चौबीसों घंटे उपस्थित रहते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here