अब्दुल सत्तार पर विपक्ष का प्रहार, लगा है बड़ा आरोप

नागपुर में चल रहे महाराष्ट्र सरकार के शीत सत्र में विपक्ष आरोपों से सरकार को छेड़ने का लगातार प्रयत्न कर रहा है। इसमें मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे पर आरोप के बाद अब अब्दुल सत्तार निशाने पर हैं।

विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष अजीत पवार ने सोमवार को राज्य के कृषि मंत्री अब्दुल सत्तार पर करोड़ों रुपये के जमीन घोटाले का आरोप लगाते हुए उनके इस्तीफे की मांग की। यह आरोप लगने के बाद अब्दुल सत्तार ने शाम को समाचार माध्यमों को बताया कि मंगलवार को इस संबंध में विधानसभा में वे अपनी बात रखेंगे।

सरकार से हटें सत्तार
अजीत पवार ने विधानसभा में कहा कि अब्दुल सत्तार ने अपने पद का दुरुपयोग करते हुए करोड़ों रुपये की जमीन का आवंटन किया है, जिस पर उच्च न्यायालय ने भी नाराजगी जताई है। इससे सरकार को भी नुकसान हुआ है। अब्दुल सत्तार पिछले छह महीने से अनाप-शनाप बयानबाजी कर रहे हैं। अजीत पवार ने कहा कि अब्दुल सत्तार को तत्काल मंत्री पद से इस्तीफा दे देना चाहिए।

ये भी पढ़ें – मध्य प्रदेश में ‘इतने’ लोगों ने फिर अपनाया हिंदू धर्म

बाबा को भी गुस्सा आया
पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता पृथ्वीराज चव्हाण ने कहा कि अब्दुल सत्तार के जमीन घोटाले पर उच्च न्यायालय ने मुहर लगाई है और इसकी सुनवाई 11 जनवरी को होने वाली है। अगर अब्दुल सत्तार इस्तीफा नहीं देते हैं, तो न्यायालय में चल रही कार्रवाई प्रभावित हो सकती है। पृथ्वीराज चव्हाण ने कहा कि अगर कोर्ट ने अब्दुल सत्तार को बरी कर दिया तो वे फिर से मंत्री पद की शपथ ले सकते हैं, लेकिन इस समय सत्तार को तत्काल मंत्री पद का इस्तीफा दे देना चाहिए। उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि वे इस मामले की जानकारी लेकर उचित निर्णय करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here