महाराष्ट्र राज्यसभा निर्वाचन में तीसरी जीत भी भाजपा की ही, देर रात ऐसे हुआ राजनीतिक पटाक्षेप

महाराष्ट्र में राज्यसभा निर्वाचन में बड़ा उलटफेर हो गया है। आठ घंटे मतगणना थमी रहने के पश्चात शिवसेना के एक विधायक का मत खारिज हो गया और मतगणना की शुरुआत हुई। इसका परिणाम ये रहा कि, राज्य की सत्ता में बैठी महाविकास आघाड़ी के तीन उम्मीदवार ही जीत प्राप्त कर पाए, जबकि विपक्ष में बैठी भारतीय जनता पार्टी ने अपने सीधे संख्याबल के अनुसार दो उम्मीदवार तो जिताकर लाए ही, अपने अतिरिक्त उम्मीदवार को भी जिता दिया।

महाराष्ट्र में 8 घंटे मतगणना रुकी रहने के दौरान चुनाव आयोग ने आरओ, ऑब्जर्वर, स्पेशल ऑब्जर्वर की रिपोर्ट का विश्लेषण किया। वीडियो फुटेज देखने के बाद विधायक सुहास कांडे के वोट को अस्वीकार करने के लिए आरओ को निर्देश दिया। इसके बाद वोटों की गिनती शुरू करने की अनुमति दी। इसके बाद राज्यसभा चुनाव की छह सीटों के लिए वोटों की गिनती शुरू हुई।

किसे कितने मत?

महाविकास आघाड़ी
प्रफुल पटेल राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी 43
इमरान प्रतापगढ़ी कांग्रेस 44
संजय राऊत शिवसेना 41
संजय पवार शिवसेना 33

भारतीय जनता पार्टी
पीयूष गोयल 48
डॉ.अनिल बोंडे 48
धनंजय महाडिक 41

महाराष्ट्र से राज्यसभा चुनाव के लिए शुक्रवार को 285 विधायकों ने मतदान किया था। भाजपा विधायक पराग अलवणी ने इस चुनाव में जीतेंद्र आव्हाड, यशोमति ठाकुर तथा सुहास कांदे पर मतदान पत्र अन्य व्यक्ति को दिखाए जाने की शिकायत चुनाव आयोग से की थी। इससे यहां मतदान रोक दिया गया था और चुनाव प्रक्रिया की वीडियो रिकार्डिंग देखने के बाद चुनाव आयोग ने सुहास कांदे का मतदान रद्द कर दिया था। इसके बाद चुनाव आयोग की अनुमति मिलने पर यहां मतगणना शुरू हुई।

पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि भाजपा की ओर से यह चुनाव सिर्फ लड़ने के लिए नहीं,बल्कि जीतने के लिए लड़ा गया था। इस चुनाव में मिली जीत भविष्य की राजनीति के लिए शुभ संकेत है। उन्होंने कहा कि इस चुनाव में साफ हो गया कि महाविकास आघाड़ी सरकार से उनके ही विधायक खुश नहीं हैं। शिवसेना प्रवक्ता संजय राऊत ने कहा कि चुनाव परिणाम का स्वागत किया जाना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here