नाम बहनों का, संपत्ति अजित पवार की! जानिये, सोमैया के आरोपों में है क्यों है दम

भाजपा नेता किरीट सोमैया के कई गंभीर आरोपों के बाद महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री अजित पवार की मुश्किलें बढ़ सकती हैं।

भारतीय जनता पार्टी नेता किरीट सोमैया ने उपमुख्यमंत्री अजित पवार पर बेनामी संपत्ति होने का गंभीर आरोप लगाया है। इसके बाद पवार की मुश्किलें और बढ़ सकती हैं क्योंकि सोमैया ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में अपने दावे के समर्थन में प्रमाण भी प्रस्तुत किए हैं।

जरंडेश्वर शुगर फैक्ट्री का मालिक कौन?
सोमैया ने कहा,’पिछले कुछ दिनों से आयकर विभाग पवार परिवार के घरों पर छापेमारी कर रहा है। हमें लगता है कि यह अब तक की सबसे लंबे समय तक चलने वाली छापेमारी में से एक है। पहले दिन अजित पवार भावुक हो गए और कहा कि आयकर विभाग ने खून के रिश्ते के चलते उनकी बहनों के घर पर छापा मारा। शरद पवार, रोहित पवार, अजित पवार, पार्थ पवार और सुप्रिया सुले से हमारा सीधा सवाल यह है कि जरंडेश्वर शुगर फैक्ट्री के मालिक और मुख्य शेयरधारक जो हैं, उनमें से एक मोहन पाटील हैं, जो विजया पाटील के पति हैं। दूसरी हैं नीता पाटील। ये लोग कौन हैं? अजित पवार का उनसे क्या रिश्ता है?’ सोमैया ने यह भी कहा कि शरद पवार को इस पर सफाई देनी चाहिए।

अजित पवार को इस्तीफा देना चाहिए
भाजपा नेता ने कहा,’जब जरंडेश्वर चीनी कारखाना खरीदा गया था, तब अजित पवार उपमुख्यमंत्री, वित्त मंत्री और महाराष्ट्र राज्य सहकारी बैंक के सर्वेसर्वा थे। इसमें राज्य सरकार का पैसा लगा है। राज्य सरकार का पैसा वित्त मंत्री की मंजूरी के बाद पास होता है। अजित पवार ने खुद फैक्ट्री को बेचा, नीलाम किया। उन्होेने इसमें कई तरह के नियमों का उल्लंघन किया। उन्होंने जरंडेश्वर शुगर फैक्ट्री पर नाम बदलकर फिर से कब्जा कर लिया।’ इस तरह के आरोप लगाते हुए सोमैया ने मांग की कि अजित पवार को उपमुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे देना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here