उद्धव ठाकरे कैसे बने मुख्यमंत्री? क्या हुआ था उस रात? राणे ने किया चौंकाने वाला खुलासा

उद्धव ठाकरे अचानक महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री कैसे बन गए? यह सवाल पिछले दो साल से महाराष्ट्र की जनता को परेशान कर रहा है। अब भाजपा नेता नारायण राणे ने अपने कॉलम 'हार और हड़ताल' में इस बारे में चौंकाने वाला खुलासा किया है।

महाराष्ट्र में केंद्रीय मंत्री नारायण राणे और शिवसेना के बीच विवाद कोई नई बात नहीं है। अपने आक्रामक अंदाज में पूरा राणे परिवार हमेशा शिवसेना और पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे पर हमलावर रहता है।

अब एक बार फिर नारायण राणे ने उद्धव ठाकरे पर निशाना साधा है। ठाकरे अचानक कैसे मुख्यमंत्री बन गए? यह सवाल पिछले दो साल से महाराष्ट्र की जनता को परेशान कर रहा है। अब नारायण राणे ने अपने कॉलम ‘हार और हड़ताल’ में इस बारे में चौंकाने वाला खुलासा किया है। राज्य का अगला मुख्यमंत्री कौन होगा, इस बारे में फैसला लेने से एक रात पहले क्या हुआ, इस बारे में राणे ने जानकारी दी है।

यह हुआ था उस रात
राणे ने कहा कि उद्धव ठाकरे का कहना है, ‘शरद पवार ने मुझे मुख्यमंत्री बनाया। लेकिन हमें पता है कि वे मुख्यमंत्री कैसे बने।’ राणे के अनुसार, फैसला होने से एक रात पहले संजय राउत उद्धव ठाकरे और आदित्य ठाकरे को पवार के आवास पर ले गए। उस समय न तो एकनाथ शिंदे और न ही कोई अन्य शिवसैनिक उनके साथ था। मुलाकात के दौरान उद्धव ठाकरे ने पवार से कहा, ‘साहब, हम किसी शिवसैनिक को मुख्यमंत्री बनाना चाहते थे, लेकिन किसी कारण से यह संभव नहीं है। इसलिए मैं आपसे अनुरोध करने आया हूं कि फिलहाल मुझे मुख्यमंत्री बनाएं।

शिवसेना बन गई बाघ से बिल्ली
संजय राउत ने भी उद्धव ठाकरे के अनुरोध की पुष्टि की। शरद पवार उनकी बात मान गए और उन्होंने कहा मैं कल ही महाविकास आघाड़ी के मुख्यमंत्री के तौर पर उद्धव ठाकरे के नाम की घोषणा करता हूं। इस तरह उद्धव ठाकरे महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री बने। राणे ने शिवसेना पर हमला करते हुए आगे कहा कि वह अब पहले जैसा बाघ नहीं, बिल्ली-बकरी बन गई है।

ये भी पढ़ेंः केंद्रीय जांच एजेंसियों से त्रस्त महाराष्ट्र सरकार! मुख्यमंत्री से मिले पवार, बनाई ऐसी रणनीति

नहीं निभाया बालासाहब का वादा
उद्धव ठाकरे ने दशहरा रैली में कहा कि उन्होंने शिवसेना प्रमुख बालासाहब ठाकरे का वादा पूरा किया। राणे ने इस मामले में आरोप लगाते हुए कहा कि बालासाहब ने किसी शिवसैनिक को मुख्यमंत्री बनाने का वचन दिया था और उद्धव खुद मुख्यमंत्री बन गए तथा अब भविष्य में भी महाराष्ट्र में कोई दूसरा शिवसैनिक मुख्यमंत्री नहीं बन सकता।

शिवसेना को चेतावनी
राणे ने शिवसेना को चेतावनी देते हुए कहा, ‘पूरे देश में भाजपा का शासन है। आप सिर्फ महाराष्ट्र में हैं और आपके पास मात्र 56 विधायक हैं, जबकि राज्य में भाजपा के पास 106 विधायक हैं। इसलिए यदि आप भाजपा नेताओं को बदनाम करते रहेंगे तो याद रखें कि आप जो बोएंगे वह बढ़ेगा, और कल्पना कीजिए कि आगे क्या होगा।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here