गठबंधन टूटने के बाद क्या भाजपा-शिवसेना में दोस्ती भी टूट गई? इस सवाल का फडणवीस ने दिया ये जवाब

उद्धव ठाकरे, देवेंद्र फडणवीस और अजित पवार, महाराष्ट्र के इन तीनों नेताओं का जन्मदिन जुलाई के महीने में पड़ता है। तो क्या जुलाई में जन्मदिन वाला नेता राज्य का मुख्यमंत्री बन जाता है?

शिवसेना-भारतीय जनता पार्टी में गठबंधन टूटने के बाद उद्धव ठाकरे और देवेंद्र फडणवीस की दोस्ती में भी दरार आने की बात कही जाती है। लेकिन अब फडणवीस ने इस बारे में बड़ी बात कही है।

फडणवीस ने सीएम ठाकरे के साथ अपनी दोस्ती बरकरार रहने का दावा करते हुए कहा कि ठाकरे और मैं अब राजनैतिक रुप से भले ही एक दूसरे के विरोधी हैं, लेकिन हमारे निजी संबंध आज भी बहुत अच्छे हैं। फडणवीस ने कहा, ‘मैं उन्हें कभी भी फोन कर सकता हूं और उनसे जरुरी मुद्दे पर चर्चा कर सकता हूं। उनका यह बयान, ‘ये दोस्ती हम नहीं तोड़ेंगे…..’ गाने की याद दिलाता है।

फडणवीस ने ये कहा
बता दें कि 27 जुलाई को मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे का जन्मदिन था। इस बारे में जब फडणवीस से सवाल पूछा गया कि क्या आपने सीएम को उनके जन्म दिन पर शुभकामान दी थी, तो जवाब में फडणवीस ने कहा कि हम राजनैतिक रुप से एक दूसरे के भले ही विरोधी हैं, लेकिन हम 25 साल तक साथ रहे हैं। इसलिए हमारा निजी संबंध आज भी पहले जैसा है। मैं उन्हें कभी भी फोन कर सकता हूं और किसी जरुरी मुद्दे पर चर्चा कर सकता हूं। मैंने उन्हें फोन कर जन्मदिन के शुभकामना दी।

ये भी पढ़ेंः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ‘ऐसे’ पहले राजनेता बने… जानें उनके विश्व रिकॉर्ड

अजित पवार ने गंवा दिया मौका
उद्धव ठाकरे, देवेंद्र फडणवीस और अजित पवार, महाराष्ट्र के इन तीनों नेताओं का जन्मदिन जुलाई के महीने में पड़ता है। तो क्या जुलाई में जन्मदिन वाला नेता राज्य का मुख्यमंत्री बन जाता है? इस सवाल का फडणवीस ने शरारती मुस्कान के साथ जवाब दिया। उन्होंने कहा,’अजित दादा के मामले में भी यह सच हो सकता था, लेकिन वे कई बार मुख्यमंत्री बनने का अवसर गंवा चुके हैं। इतने वर्षों तक राजनीति करने के बाद उन्हें प्रशासन का अच्छा अनुभव है। उनके पास क्षमता भी है। लेकिन अभी इस मुद्दे पर चर्चा करने का समय नहीं है।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here