जानिये, पुणे में किसान ने क्यों किया शोले स्टाइल में आंदोलन!

पुणे-रिंग रोड और पुणे-नासिक रेल परियोजना के लिए भूमि अधिग्रहण के विरोध में किसानों ने 6 जुलाई को कई घंटों तक आंदोलन किया। वहीं राजगुरु नगर में एक किसान पानी की टंकी पर चढ़ गया और आत्मदाह की चेतावनी दी।

महाराष्ट्र के पुणे स्थित खेड़ तहसील में एक किसान ने शोले स्टाइल में प्रशासन के खिलाफ आंदोलन किया। पुणे नासिक रेल मार्ग की मंजूरी के बाद यहां प्रशासन द्वारा जमीन अधिग्रहण का काम शुरू है। लेकिन कुछ किसानों ने इस प्रोजेक्ट का विरोध किया है। साथ ही खेड़ तहसील के 12 गांव से होकर जाने वाली रिंग रोड का भी स्थानीय किसान विरोध कर रहे हैं।

भूमि अधिग्रहण का विरोध
कुछ दिन पहले किसानों ने प्रशासन से मिलकर इस भूमि अधिग्रहण का विरोध जताया था। इसके लिए उन्होंने लिखित निवेदन भी दिया था। लेकिन प्रशासन ने उनके निवेदन पर कोई ध्यान नहीं दिया। इससे नाराज किसानों ने जहां कई घंटों तक आंदोलन किया, वहीं एक किसान प्रांत कार्यालय के सामने स्थित पानी की टंकी पर चढ़ गया और अपनी मांगों को लेकर आंदोलन किया। उसने आत्महत्या की भी कोशिश की। प्रशासन द्वारा कई बार अपील किए जाने के बावजूद वह नीचे उतरने को तैयार नहीं था। लेकिन आखिरकार वह सुरक्षित नीचे उतर आया और प्रशासन के प्रति अपना गुस्से का इजहार किया।

ये भी पढ़ेंः मात्र 17 दिनों में ऐसे तैयार किया जाएगा 16 लाख 12वीं के विद्यार्थियों का रिजल्ट!

शोले स्टाइल में किया विरोध
दरअस्ल पुणे नासिक रेल मार्ग के लिए भूमि अधिग्रहण के विरोध को लेकर कई बार शिकायत किए जाने के बाद भी प्रशासन ने कोई कार्रवाई नहीं की। इससे नाराज किसानों ने आंदोलन शुरू कर दिया। उसके बाद एक किसान पानी की टंकी पर चढ़ गया और कई घंटों तक वह अपनी मांंगों को लेकर आवाज बुलंद करता रहा। साथ ही मांग नहीं माने जाने पर उसने आत्महत्या करने की भी धमकी दी। हालांकि बाद में वह सुरक्षित नीचे उतर आया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here