महाराष्ट्रः शिवसेना विधायक प्रताप सरनाईक के रिसॉर्ट पर ईडी का छापा! जानिये क्या है मामला

महाराष्ट्र में सरकार का नेतृत्व कर रही शिवसेना के विधायक प्रताप सरनाईक की मुश्किलें एक बार फिर बढ़ती नजर आ रही हैं। उनके लोणावाला स्थित रिसॉर्ट पर प्रवर्तन निदेशालय( ईडी) ने छापेमारी की है।

महाराष्ट्र में सरकार का नेतृत्व कर रही शिवसेना के विधायक प्रताप सरनाईक की मुश्किलें एक बार फिर बढ़ती नजर आ रही हैं। उनके लोणावाला स्थित रिसॉर्ट पर प्रवर्तन निदेशालय( ईडी) ने छापेमारी की है।

मिली जानकारी के अनुसार 18 मई की सुबह सरनाईक के लोणावाला स्थित रिसॉर्ट पर छापेमारी की गई है। फिलहाल रिसॉर्ट के चप्पे-चप्पे की तलाशी ली जा रही है। हालांकि अभी तक ये जानकारी नहीं मिल पाई है कि छापेमारी के बाद की जा रही तलाशी में ईडी के अधिकारियों क्या कुछ बरामद हुए हैं और इस दौरान वहां कौन-कौन उपस्थित हैं।

इस मामले में की जा रही है छापेमारी
मिली जानकारी के अनुसार ये छापेमारी नेशनल स्पोर्ट्स एक्सचेंज लिमिटेड (एनएसईएल) से जुड़े मामले में की जा रही है। इस मामले में अप्रैल में बिल्डर योगेश देशमुख को गिरफ्तार किया गया था। यह मामला करीब 5,500 करोड़ रुपये के कर्जदाताओं से जुड़ा है।

ये भी पढ़ेंः …और प्रताप सरनाईक के 112 भूखंड जब्त!

सरनाईक का करीबी योगेश देशमुख गिरफ्तार
बता दें कि पिछले महीने प्रवर्तन निदेशालय ने योगेश देशमुख नामक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है। योगेश शिवसेना विधायक प्रताप सरनाईक का खास माना जाता है। उस पर लंबे समय से केंद्रीय जांच एजेंसी की दृष्टि थी। योगेश देशमुख मुंबई से सटे कल्याण का बड़ा भवन निर्माता है।

ये भी पढ़ेंः पिंपरी चिंचवड़ः 6,420 टन रक्त चंदन के साथ ऐसे दबोचे गए पांच तस्कर

कौन है योगेश देशमुख?
जिस योगेश देशमुख को गिरफ्तार किया गया है, उस पर नेशनल स्पॉट एक्सचेंज (एनएसईएल) घोटाले में संलिप्तता का आरोप है। लगभग महीने भर पहले प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने 112 भूखंड जब्त किये थे। ये सभी भूखंड एनएसईएल घोटाले से संबंधित प्रकरण में जब्त किये गए हैं।  इस घपले में 5,600 करोड़ रुपए की मनी लॉन्डरिंग का भी आरोप है। यह प्रकरण उस समय सामने आया था, जब आस्था समूह ने निवेशकों के पैसे लौटाने बंद कर दिये थे।

घर पर भी ईडी मार चुकी है छापा
16 मार्च को ईडी ने योगेश देशमुख के गोदरेज हिल परिसर में स्थित बंगले पर छापा मारा था। यह छापा टिटवाला के गुरवली में 78 एकड़ भूखंड की खरीद से संबंधित मामले की जांच में मारा गया था। जानकारी के अनुसार उस समय योगेश देशमुख निजी अस्पताल में कोरोना का इलाज करा रहा था। घर पर मौजूद योगेश देशमुख की पत्नी ने उस समय काफी हंगामा किया था।

 

भाजपा नेता ने भी लगाए थे गंभीर आरोप
दिसंबर 2020 में भाजपा नेता किरीट सोमैया ने प्रताप सरनाईक और उनके सहयोगियों पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाया था। उन्होंने अपने आरोप में कहा था कि ईडी द्वारा भूखंड अटैच किये जाने के बाद भी सरनाईक ने उन भूखंडों को बेच दिया है। इसके अलावा आस्था समूह के संचालक और प्रताप सरनाईक पर 100 करोड़ रुपए एनएसईएल से डाइवर्ट किये जाने का आरोप भी लगाया था। 18 मई को एक बार फिर भाजपा नेता किरीट सोमैया ने सरनाईक पर टिटवाला में 78 एकड़ जमीन खरीदने के साथ ही और भी कई गंभीर आरोप लगाए हैं।

सरनाईक के सहयोगियों पर कोप
प्रताप सरनाईक के एक अन्य सहयोगी पर भी इसस पहले ईडी की कोप दृष्टि पड़ चुकी है। अमित चंदोले को 25 नवंबर 2020 को ईडी ने टॉप्स ग्रुप से संबंधित मामले में गिरफ्तार किया था।

पहले भी की गई है छापेमारी और पूछताछ
इससे पहले भी उनके ठाणे स्थित घर और कार्यालय में ईडी ने छापेमारी की थी और प्रताप सरनाईक के साथ ही उनके बेटे विंहग सरनाईक से भी पूछताछ की थी। उन पर जमीन खरीदी और इमारत निर्माण में कई तरह की अनियितताओं के साथ ही अन्य तरह के भी कई गंभीर आरोप हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here