सहकारिता मंत्रालय पर तकरार! फडणवीस ने की प्रशंसा तो राउत ने ऐसे कसा तंज

महाराष्ट्र में भारतीय जनता पार्टी जहां केंद्रीय सहकारिता मंत्रालय को देश-प्रदेश के हित में बता रही है तो वहीं शिवसेना इस मंत्रालय की स्थापना को राजनीति से प्रेरित बता रही है।

केंद्र की मोदी सरकार द्वारा सहकारिता मंत्रालय बनाए जाने को लेकर महाराष्ट्र में राजनैतिक तकरार बढ़ गया है। भारतीय जनता पार्टी जहां इस मंत्रालय को देश-प्रदेश के हित में बता रही है, वहीं शिवसेना इस मंत्रालय की स्थापना को राजनीति से प्रेरित बता रही है।

फडणवीस ने की प्रशंसा
महाराष्ट्र के पुणे में पूर्व मुख्यमंत्री और विपक्षी नेता देवेंद्र फडणवीस ने केंद्र द्वारा सहकारिता मंत्रालय बनाने और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को उसका अतिरिक्त प्रभार दिए जाने की प्रशंसा की है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने जो सहकारिता मंत्रालय बनाया है, उसका फायदा विशेष रूप से महाराष्ट्र को होगा। महाराष्ट्र का सहकार क्षेत्र जो खत्म होने की कगार पर है, वो फिर से जिंदा होगा। अमित शाह को यह मंत्रालय इसलिए दिया गया है क्योंकि वो राजनीति में आने से पहले सहकारिता के क्षेत्र में थे।

ये भी पढ़ेंः भारती विश्वविद्यालय: महिला डॉक्टर के बाथरूम में हुआ ऐसा कि पुलिस भी अब एलर्ट पर

संजय राउत ने कसा तंज
दूसरी ओर इस खाते को लेकर शिवसेना सांसद संजय राउत ने केंद्र सरकार पर निशाना साधा है। पुणे के पास स्थित पिंपरी चिंचवड में उन्होंने कहा कि अगर शिवसेना को तकलीफ देने के लिए यह मंत्रालय बनाया गया है तो यह सत्ता का दुरूपयोग है। अगर हमारा कार्यक्रम करने के लिए ऐसा किया गया है तो हम भी कार्यक्रम कर सकते हैं। राउत ने आगे कहा कि अगर देश की सहकारिता क्षेत्र को मजबूत करने के लिए यह विभाग बनाया गया है तो स्वागत है। सहकर विभाग यह राज्य का विषय है।

देवेंद्र पडणवीस ने पुणे में मीडियाकर्मियों से इसके आलावा भी कई मुद्दों पर बात की।

फडणवीस की खास बातें

  • कांग्रेस नेता कृपाशंकर सिंह को भारतीय जनता पार्टी में इसलिए शामिल किया गया है क्योंकि उन्होंने जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटाए जाने का खुलकर समर्थन किया था और इस मुद्दे पर उन्होंने कांग्रेस छोड़ दी थी।
  • मुझे लगता है कि अब सामान्य लोगों के लिए मुंबई लोकल शुरू करनी चाहिए।
  • जब हम प्रदेश में सरकार में थे और ईंधन की कीमत बढ़ी थी तो हमने राज्य के टैक्स कम कर दिए थे और हमने 5 रुपए  पेट्रोल- डीजल के दाम किए थे।
  • केंद्र में मंत्री बनाए गए डॉ. भागवत कराड मुंडे समर्थक रहे हैं और मुंडे साहब ने ही उन्हें राजनीति में स्थापित किया था। मुझे लगता है कि भागवत कराड को मंत्री बनाए जाने पर जितना आनंद पार्टी के किसी कार्यकर्ता को या मुझे हुआ है, उससे कई गुना ज्यादा खुशी पंकजा मुंडे को हुई होगी, क्योंकि भागवत कराड मुंडे परिवार से ही हैं ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here