जानिये, अनिल देशमुख की 4 करोड़ रुपए की जब्त संपत्ति की कीमत हो गई कितनी!

ईडी ने महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख को मनी लॉन्ड्रिंग मामले में पूछताछ के लिए तीन बार समन जारी किए थे। इसके साथ ही उनके बेटे ऋषिकेश को भी एक बार तलब किया था, लेकिन दोनों ने ही पूछताछ से बचने के लिए सर्वोच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाया है।

महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख को पुलिस को 100 करोड़ रुपये की वसूली का टारगेट दिए जाने के मामले में मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। इस मामले में ईडी ने पूर्व गृह मंत्री की 4 करोड़ 20 लाख रुपए की संपत्ति जब्त की थी। जब्त की गई संपत्ति का वर्तमान में बाजार मूल्य 350 करोड़ रुपये हो गया है। ईडी ने देशमुख की दो संपत्तियों को जब्त किया है।

सीबीआई ने अनिल देशमुख के खिलाफ मामला मनी लॉन्ड्रिंग का मामला दर्ज किया है। ईडी ने देशमुख को इस मामले में पूछताछ के लिए तीन बार समन जारी किए थे। इसके साथ ही उनके बेटे ऋषिकेश को भी एक बार तलब किया गया था, लेकिन दोनों ने ही पूछताछ से बचने के लिए सर्वोच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाया है। बाद में ईडी ने देशमुख की पत्नी आरती देशमुख को भी समन जारी किया था। लेकिन उन्होंने बिना पेश हुए जरूरी दस्तावेज ईडी को सौंप दिए हैं।

ये भी पढ़ेंः मुंबई में अब ऑनलाइन पार्क करें अपनी गाड़ी! ये है योजना

इन संपत्तियों को किया जब्त
इन घटनाओं के बाद अब ईडी ने अनिल देशमुख की संपत्ति को जब्त करना शुरू कर दिया है। इसी कड़ी में एजेंसी के अधिकारियों ने उनके वर्ली स्थित एक फ्लैट को जब्त किया है। इसकी खरीदी कीमत 1 करोड़ 54 लाख रुपए है। इसके साथ ही देशमुख की एक जमीन भी जब्त की गई है। इन दोनों कुल कीमत अब 350 करोड़ रुपए हो गई है। ईडी ने रायगढ़ जिले के उरण तालुका के धूमत गांव में 8 एकड़ 30 गुंठा जमीन जब्त की है। यह भूमि उरण बंदरगाह और पलस्पे फाटा के बीच स्थित है। यहां एक गुंठे की कीमत एक करोड़ रुपए है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here