मैं कांग्रेस-राकांपा का विरोधी हूं! जानिए, महाराष्ट्र के सीएम ठाकरे ने क्यों कहा ऐसा

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा है कि राजनीतिक रूप से मैं कांग्रेस और राकांपा के खिलाफ हूं। उनके इस बयान के बाद अब सियासी गलियारों में यह चर्चा शुरू हो गई है कि मुख्यमंत्री के पेट में जो है, वो उनके होठों पर आ गया है।

महाराष्ट्र में शिवसेना, कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी की सरकार है, लेकिन किसी न किसी कारण से तीनों दलों के बीच मतभेद सामने आते रहते हैं। इस कारण राकांपा और कांग्रेस के साथ मिलकर सरकार बनाने के लिए शिवसेना की  आलोचना भी होती है। लेकिन अब खुद मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने चौंकाने वाला बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि राजनीतिक रूप से मैं कांग्रेस और राकांपा के खिलाफ हूं। उनके इस बयान के बाद अब सियासी गलियारों में यह चर्चा शुरू हो गई है कि मुख्यमंत्री के पेट में जो है, वो उनके होठों पर आ गया है।

क्या कहा मुख्यमंत्री ने?
ठाकरे ने कहा कि राजनीतिक रूप से मैं कांग्रेस और राकांपा के खिलाफ हूं। लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि मैं सरकार में उनके द्वारा किए गए अच्छे कामों की निंदा करूं। यह गलत होगा। मुख्यमंत्री ने कहा, बालासाहेब और मैंने इसके बारे में कभी नहीं सोचा। मेरा करियर सबके सामने है। उन्होंने कहा कि सरकार के हर मंत्री को कुछ यादगार काम करना चाहिए, ताकि 25 साल बाद इस सरकार को याद किया जाए।

ये भी पढ़ेंः अगर आपने निर्णय ले लिया है तो बता दें, हम भी तैयारी में लगें! जानिये, पवार ने कांंग्रेस से क्यों कहा ऐसा

कांग्रेस पर साधा निशाना
मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे यहीं नहीं रुके, बल्कि उन्होंने अपने दम पर चुनाव लड़ने के कांग्रेस के बयान पर निशाना साधा। सीएम ने कहा कि साथ मिलकर सरकार चलाने वाली पार्टी को इस तरह की बात नहीं करनी चाहिए। वह विरोधी पार्टी नहीं है। इस कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने जल संरक्षण के क्षेत्र में उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए गणमान्य व्यक्तियों को जलभूषण पुरस्कार देकर सम्मानित किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here