अब्दुल सत्तार ने सुप्रिया सुले को लेकर दिए अपने बयान के लिए मांगी माफी! जानिये, क्या है पूरा मामला

महाराष्ट्र के कृषि मंत्री अब्दुल सत्तार ने अपने पूर्व के बयान पर विवाद पैदा होने के बाद स्पष्टीकरण दिया है।

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी सांसद सुप्रिया सुले की शिंदे समूह के विधायक और महाराष्ट्र के कृषि मंत्री अब्दुल सत्तार ने आपत्तिजनक भाषा में आलोचना की थी। इसके बाद राज्य में सियासत गरमा गई है। सत्तार के खिलाफ राकांपा द्वारा जोरदार प्रदर्शन किया जा रहा है। इस बीच सत्तार ने अपनी प्रतिक्रिया दी है।

…तो मैं क्षमा चाहता हूंः सत्तार
अब्दुल सत्तार ने अपने पूर्व के बयान पर विवाद पैदा होने के बाद स्पष्टीकरण दिया है। उन्होंने कहा, “मैंने बयान देते समय महिला-बहनों को लेकर कोई गाली-गलौज नहीं की है। मैंने उन लोगों के बारे में बयान दिया है, जो हमें बदनाम कर रहे हैं। सुप्रिया सुले की बात करें तो मैंने उनका अपमान करने के लिए कोई बयान नहीं दिया है। फिर भी अगर महिला-बहनों को लगता है कि मेरे भाषण से उनका अपमान हुआ है, तो मैं खेद व्यक्त करता हूं।”

‘मैं महिलाओं का सम्मान करता हूं’
मैं केवल खोखे की बात कर रहा था। जिनके दिमाग उससे प्रभावित हुए हैं, वे खोखे की बात कर रहे हैं। मैंने ये कहा था। लेकिन इसका गलत अर्थ निकालकर बताया जा रहा है कि मैं महिलाओं का अपमान कर रहा हूं। मैंने महिलाओं के बारे में कभी कोई गलत शब्द नहीं कहा और न कभी बोलूंगा। अब्दुल सत्तार ने कहा कि मुख्यमंत्री, उपमुख्यमंत्री और सरकार के सभी विधायक महिलाओं का सम्मान करते हैं। वैसे ही मैं भी एक कार्यकर्ता हूं। मैं भी महिलाओं का सम्मान करता हूं।

क्या है मामला ?
राकांपा सांसद सुप्रिया सुले ने सत्तार की आलोचना करते हुए पूछा था कि क्या आपको भी पचास खोखे मिले हैं? इस पर सत्तार ने पूछा था कि क्या आपको भी खोखे चाहिए? तब सुले ने कहा था- उस समय आपके पास 50 खोखे होंगे, इसलिए आप हमें पेशकश कर रहे हैं। कहा जाता है कि अब्दुल सत्तार ने उनके इस बयान की आलोचना करते हुए सुप्रिया सुले को लेकर आपत्तिजनक बयान दिया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here