21 वालों दिल्ली में अब इसलिए खुलकर पियो!

दिल्ली सरकार ने राजस्व बढ़ाने के लिए नई आबकारी नीति की घोषणा की है। इस नीति के तहत शराब पीने की उम्र पहले से चार साल घटा दी गई है।

देश की राजधानी दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने शराब पीने की उम्र 25 वर्ष से घटाकर 21 वर्ष कर दी है। सरकार ने यह निर्णय नई आबकारी नीति के तहत लिया है। हालांकि सरकार ने कहा है कि अब दिल्ली में शराब की कोई सरकारी दुकान नहीं होगी। साथ ही राजधानी में शराब की कोई नई दुकान भी नहीं खुलेगी। ज्यादा राजस्व जुटाने के मकसद से इस बदलाव का ऐलान किया गया है। इससे दिल्ली की आम आदमी पार्टी की सरकार को सलाना 2000 करोड़ रुपए राजस्व बढ़ने का अनुमान है।

दिल्ली में भी अब कलेक्शन का टारगेट
दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने इस बारे में जानकारी दी। नई नीति में खास बदलाव उम्र को लेकर किया गया है। इससे पहले दिल्ली में शराब पीने की न्यूनतम उम्र 25 वर्ष थी। सिसोदिया ने इस नीति का ऐलान करते हुए कहा कि दिल्ली में शराब की सरकारी दुकानें बंद की जाएंगी। टेंडर के माध्यम से इन दुकनों को निजी लोगों के हाथों में दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि सरकार ने इस नीति से सलाना 2000 करोड़ रुपए राजस्व बढ़ाने का लक्ष्य रखा है।

ये भी पढ़ेंः गोवा निकाय चुनावः खिला कमल, हिला हाथ!

नई आबकारी नीति की खास बातें

  • शराब की दुकान के लिए 500 वर्गमीटर की जगह अनिवार्य
  • नई नीति से 2000 करोड़ रुपए सलाना राजस्व बढ़ने की उम्मीद
  • दिल्ली में 850 शराब की दुकान, नई दुकान खोलने की मंजूरी नहीं
  • पुरानी दुकानों की वितरण व्यवस्था में सुधार की जाएगी
  • शराब की गुणवत्ता चेक करने के लिए सरकार इंटरनेशनल सिस्टम बनाएगी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here