जेईई मेन 2022 का परिणाम घोषित, 24 उम्मीदवारों को 100 प्रतिशत अंक, यह प्रदेश नंबर वन

शीर्ष 24 में केवल दो लड़कियां ही 100 पर्सेंटाइल हासिल करने में सफल रही हैं। आंध्र प्रदेश की पल्ली जलजाक्षी और असम की स्नेहा पारीक ने 100 पर्सेंटाइल हासिल किया है।

राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी (एनटीए) ने 8 अगस्त को संयुक्त प्रवेश परीक्षा (मुख्य)-2022 के लिए अंतिम परिणाम घोषित कर दिए। सत्र 01 और सत्र 02 के प्रदर्शन के आधार पर समग्र मेरिट सूची में 24 उम्मीदवारों ने 100 प्रतिशत अंक हासिल किए हैं।

24 उम्मीदवारों ने जेईई (मेन)- 2022 परीक्षा में बी.ई./बी.टेक (पेपर 1) में 100 एनटीए स्कोर प्राप्त किया है। इसमें सबसे अधिक पांच-पांच उम्मीदवार आंध्र प्रदेश और तेलंगाना से हैं। सूची में राजस्थान के चार और उत्तर प्रदेश के दो उम्मीदवार शामिल हैं। इसके अलावा महाराष्ट्र, हरियाणा, असम, बिहार, पंजाब, केरल, कर्नाटक और झारखंड से एक-एक उम्मीदवार हैं।

ये भी पढ़ें – ऐसे दबोचे गए शिक्षक सहित चार नशे के सौदागर, एक करोड़ की स्मैक भी बरामद

शीर्ष 24 में केवल दो लड़कियां ही 100 पर्सेंटाइल हासिल करने में सफल रही हैं। आंध्र प्रदेश की पल्ली जलजाक्षी और असम की स्नेहा पारीक ने 100 पर्सेंटाइल हासिल किया है। इस साल जेईई के दोनों सत्र में कुल 6,48,555 लड़के और 2,57,031 लड़कियां शामिल हुई थीं। इसके अलावा, अनुचित साधनों का उपयोग करने के कारण पांच उम्मीदवारों के परिणाम रोक दिए गए हैं।

सूची में क्रमश श्रेणिक मोहन सकला महाराष्ट्र, नव्या राजस्थान, सार्थक माहेश्वरी हरियाणा, कृष्णा शर्मा राजस्थान, पार्थ भारद्वाज राजस्थान, स्नेहा पारीक असम, अरुदीप कुमार बिहार, मृणाल गर्ग पंजाब, पेनिकलपति रवि किशोर आंध्र प्रदेश, पोलीसेट्टी कार्तिकेय आंध्र प्रदेश, रूपेश बियाणी तेलंगाना, धीरज कुरुकुंडा तेलंगाना, जस्ती यशवंत वी वी एस तेलंगाना, बुसा शिव नागा वेंकट आदित्य तेलंगाना, थॉमस बीजू चीरमवेलिल केरल, अनिकेत चट्टोपाध्याय तेलंगाना, बोया हरेन सात्विक कर्नाटक, मेंडा हिमा वामसी आंध्र प्रदेश, कुशाग्र श्रीवास्तव झारखंड, कोय्याना सुहास आंध्र प्रदेश, कनिष्क शर्मा उत्तर प्रदेश, मयंक मोटवानी राजस्थान, पल्ली जलजाक्षी आंध्र प्रदेश और सौमित्र गर्ग उत्तर प्रदेश।

इस साल, दोनों सत्रों (जून/जुलाई) के लिए कुल 10,26,799 अद्वितीय (यूनीक) उम्मीदवारों ने पंजीकरण कराया, जिनमें से 9,05,590 उम्मीदवार परीक्षा में उपस्थित हुए। सत्र-1 परीक्षा 24 जून से 30 जून के बीच आयोजित की गई थी जबकि सत्र-2 की परीक्षा 25 से 30 जुलाई तक आयोजित की गई थी। भारत के बाहर 17 शहरों सहित परीक्षा 440 शहरों में 622 परीक्षा केंद्रों पर आयोजित की गई थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here