बीकानेर गुवाहाटी एक्सप्रेस दुर्घटना, रेलवे की ऐसी नई पहल से पीड़ितों को मिली सांत्वना

उत्तर सीमांत रेलवे के अधिकारियों से प्राप्त जानकारी के अनुसार, राहत व बचाव अभियान समाप्त हो चुका है। यह मार्ग पूर्ण रूप से साफ कर दिया गया है। इस दुर्घटना के कारण नौ ट्रेनों को वैकल्पिक मार्ग से निकाला गया था।

पश्चिम बंगाल के जलपाईगुड़ी के पास बीकानेर गुवाहाटी एक्सप्रेस के 12 डिब्बे पटरी से उतर गए थे। इस दुर्घटना के दृश्य डरानेवाले थे। शुक्रवार को दुर्घटनास्थल पर रेलवे मंत्री अश्विनी वैष्णव पहुंचे। उन्होंने जानकारी प्राप्त की और विशेष बात यह रही कि रेलवे के इतिहास में पहली बार दुर्घटना में पीड़ितों को चौबीस घंटे के भीतर ही सांत्वना राशि का भुगतान कर दिया गया।

रेलवे मंत्रालय की घोषणा के अनुसार तीन स्तर पर सांत्वना राशि का भुगतान

1. सामान्य घायल – 26 यात्रियों को इस दुर्घटना में सामान्य चोटें आई थीं। उन्हें 25 हजार रुपए प्रति घायल के हिसाब से भुगतान किया गया।

2. गंभीर रूप से घायल – दुर्घटना में 10 यात्री गंभीर रूप से घायल हुए थे, जिन्हें एक लाख रुपए का भुगतान किया गया।

3. मृतक – दुर्घटना में नौ यात्रियों की मौत हो गई है। जिनके परिजनों को पांच-पांच लाख रुपए का भुगतान किया गया है।

ये भी पढ़ें – विश्व के ये 15 देश हिंदू राष्ट्र बनने को तैयार, भारत करे शुरुआत! पुरी के शंकराचार्य का दावा

रेलवे के वरिष्ठ अधिकारियों से मिली जानकारी के अनुसार केंद्र सरकार की जीरो टॉलरेंस पॉलिसी के अनुसार इस दुर्घटना में कार्य किया गया है। जैसे ही दुर्घटना की सूचना प्राप्त हुई, तत्काल बचाव दल त्वरित गति से कार्य में जुट गया। इसके साथ ही दुर्घटना के पीड़ितों को सांत्वना राशि का भुगतान भी उतना ही आवश्यक रखा गया था।

दुर्घटना के बाद रात भर पीड़ितों की सेवा और उन्हें सुरक्षित स्थल पर पहुंचाने का कार्य चलता रहा, ठीक उसी प्रकार सांत्वना राशि की रातोंरात व्यवस्था करके सभी प्रभावितों को सांत्वना राशि ऑन दी स्पॉट वितरित कर दी गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here