पाकिस्तानः इस मामले में पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान की बढ़ीं मुश्किलें

एजेंसी का दावा है कि पार्टी के ऐसे तीन गुप्त खाते हैं। इनका इस्तेमाल अवैध लेनदेन में किया गया।

पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान विदेशी फंडिंग मामले में फंसते नजर आ रहे हैं। पाकिस्तान की संघीय जांच एजेंसी ने दावा किया है कि इमरान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ ने कथित तौर पर संचालित एक अघोषित बैंक खाते में 78.7 करोड़ रुपये (पाकिस्तान की मुद्रा) से अधिक की राशि जमा कराई। बाद में यह पैसा निकाल लिया गया।

एजेंसी का दावा
एजेंसी का दावा है कि इस पार्टी के ऐसे तीन गुप्त खाते हैं। इनका इस्तेमाल अवैध लेनदेन में किया गया। स्थानीय मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार इन खातों का इस्तेमाल वूटन क्रिकेट क्लब से फंड ट्रांसफर करने के लिए किया गया। इमरान की पार्टी विदेशी फंडिंग विवाद में जांच के दायरे में है। इमरान की पार्टी के प्रवक्ता ने सफाई दी है कि यह वितरण खाता था। यह संग्रह खाता नहीं है। इसमें कुछ भी अवैध नहीं है।

यह भी पढ़ें – महाराष्ट्र के इस शहर में जाली नोट बनाने के कारखाने का पर्दाफाश, तीन आरोपी चढ़े पुलिस के हत्थे

उल्लेखनीय है कि विदेश से प्रतिबंधित फंडिंग मामले में हो रही सुनवाई के दौरान चुनाव आयोग के प्रमुख सिकंदर सुल्तान राजा ने इमरान की पार्टी को दो सप्ताह का समय दिया है। अगली सुनवाई छह सितंबर को होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here