इस ‘बात’ के लिए कांग्रेस सांसद शशि थरूर को पार्टी से निकालने की चेतावनी!

कांग्रेस सांसद शशि थरूर कई बार पार्टी लाइन से हटकर बातें करते रहते हैं। इसके लिए वे सोशल मीडिया का सहारा लेते हैं।

केरल प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष के सुधाकरन ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कांग्रेस सांसद शशि थरूर के खिलाफ बयान दिया है। उन्होंने कहा है,” न तो शशि थरूर और न ही किसी अन्य सदस्य को पार्टी के निर्देशों को ठुकराने का अधिकार है।” उन्होंने यह भी कहा कि अगर थरूर कांग्रेस के फैसलों को नहीं मानेंगे तो उन्हें पार्टी से निष्कासित कर दिया जाएगा।

कुन्नूर में एक संवाददाता सम्मेलन में बोलते हुए, सुधाकरन ने कहा, “शशि थरूर पार्टी के सदस्य हैं। वे पार्टी नहीं हैं। यदि वे पार्टी की निर्णय सीमा के भीतर रहते हैं, तो वे पार्टी के सदस्य रहेंगे। अगर वे पार्टी के फैसले का उल्लंघन करते हैं तो उन्हें पार्टी से निकाल दिया जाएगा।”

पार्टी इस बात के लिए नाराज
केरल में ‘सेमी-हाई स्पीड रेलवे कॉरिडोर’ के खिलाफ कांग्रेस सांसदों द्वारा केंद्र को लिखे गए पत्र पर थरूर ने हस्ताक्षर करने से इनकार कर दिया। उसके बाद थरूर ने मुख्यमंत्री पिनराई विजयन की खुलकर तारीफ की। इन दो कारणों से वे वर्तमान में राज्य में अपनी ही पार्टी नेताओं की नाराजगी का सामना कर रहे हैं।

थरूर ने कही थी ये बात
थरूर ने अपनी ही पार्टी के नेताओं की आलोचना के बाद नाराजगी व्यक्त करने के लिए ट्विटर का सहारा लिया था। थरूर ने कहा था कि कुछ मुद्दों पर राजनीतिक मतभेदों को दूर रखने की जरूरत है। उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि वे केरल में सिल्वर लाइन योजना का अध्ययन करने के बाद ही अपनी राय देंगे।

ये भी पढ़ेंः आरएसएस कार्यालय पर हमलावरों के खिलाफ कार्रवाई तेज, लगाया जाएगा यह एक्ट

पार्टी के आदेश को ठुकराने का अधिकार नहीं
सुधाकरन ने संवाददाताओं से कहा कि सभी को अपनी राय देने का अधिकार है। उन्होंने कहा, “लेकिन किसी को भी, चाहे वह शशि थरूर हो या सुधाकरन, पार्टी के आदेश को खारिज करने का अधिकार नहीं है। पार्टी ने ऐसा अधिकार किसी को नहीं दिया है। यहां तक ​​कि सांसदों को भी यह अधिकार नहीं है।”

इसके बाद पार्टी करेगी फैसला
सुधाकरन ने यह भी कहा कि थरूर द्वारा हस्ताक्षर करने से इनकार करने के बाद उनसे लिखित स्पष्टीकरण मांगा गया था। सुधाकरन ने यह भी स्पष्ट किया है कि पार्टी उनके लिखित स्पष्टीकरण के बाद ही आगे की कार्रवाई पर फैसला करेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here