कितने विश्वसनीय रहे हैं एग्जिट पोल्स! जानने के लिए पढ़ें ये खबर

यहां हम 2016 में इन पश्चिम बंगाल, असम, केरल और तमिलनाडु तथा केंद्र शासित प्रदेश पुडुचेरी में कराए गए मतदान के बाद जारी एग्जिट पोल्स और मतगणना के बाद आए वास्तविक परिणामों के बारे में जानते हैं।

देश के चार राज्यों पश्चिम बंगाल, असम, केरल और तमिलनाडु के साथ ही केंद्र शासित प्रदेश पुडुचेरी में कराए गए मतदान के मतों की गिनती 2 मई को की जा रही है। इससे पहले 29 अप्रैल को पश्चिम बंगाल में अंतिम चरण के मतदान खत्म होने के बाद उसी दिन शाम 7.30 बजे कई एजेंसियों द्वारा इन प्रदेशों के चुनाव के एग्जिट पोल्स जारी किए गए। सवाल यह है कि वास्तव में एग्जिट पोल कितने विश्वसनीय होते हैं।

यहां हम इन प्रदेशों में 2016 कराए गए चुनावों के बाद जारी किए गए एग्जिट पोल्स और बाद में आए इनके वास्तविक परिणामों की तुलना कर यह जानने की कोशिश करते हैं, कि उस वर्ष एग्जिट पोल्स कितने सच साबित हुए थे, सच साबित भी हुए थे, या परिणाम दावे के विपरीत आए थे। लेकिन इससे पहले हम इन चार राज्यों और केंद्र शासित प्रदेश पुडुचेरी में कराए गए चुनाव के बाद जारी किए गए एग्जिट पोल्स के परिणामों को जान लेते हैं।

पश्चिम बंगाल-2021

कुल विधानसभा सीटः 294-2 ( दो सीटों पर कोरोना से उम्मीदारों की मौत के कारण अब 16 मई को मतदान)
यहां इंडिया टुडे-एक्सिस-माय-इंडिया के एग्जिट पोल में भापजा के खाते में 134-160 और टीएमसी के खाते में 130 से 156 सीटें आने का दावा किया गया है। लेफ्ट के खाते में 0-2 और अन्य के खाते में 0-1 सीट आने का अनुमान है। एग्जिट पोल्स के परिणाम को सच माने तो यहां भाजपा और टीएमसी में कांटे की टक्कर है।

असम
कुल सीटः 126
इंडिया टुडे-एक्सिस-माय इंडिया के अनुसार भाजपा गठबंधन को 75-85 सीटों पर जीत मिल सकती है। जबकि कांग्रेस गठबंधन के खाते में 40-50 सीटें आने की उम्मीद है। अन्य को 1-4 सीटों पर जीत मिलने की उम्मीद है।

केरल
कुल सीटः 140
इंडिया-टुडे एक्सिस-माय-इंडिया के अनुसार केरल में एलडीएफ को 104-120 सीटें मिल सकती हैं। जबकि यूडीएफ के खाते में 20-36 सीटें तो भाजपा के खाते में 0-2 सीटें आने का अनुमान है। अन्य के खाते में 0-2 सीटें आ सकती हैं।

तमिलनाडु
कुल सीटः 234
इंडिया टुडे-एक्सिस-माय-इंडिया के अनुसार तमिलनाडु में एआईडीएमके के खाते में 38-54, डीएमके गठबंधन के खाते में 175 से 195 सीटें आने का अनुमान है। एएमएमके गठबंधन को 1-2 सीटें और एमएनएम गठबंधन के खाते में 0-2 सीटें आ सकती हैं।

पुडुचेरी
कुल सीटः 30
इंडिया टुडे-एक्सिस-माय-इंडिया के अनुसार एनडीए को 20-36 सीटों पर जीत मिल सकती है, जबकि कांग्रेस गठबंधन को 6-10 सीटों और अन्य को 0-1 सीट पर जीत मिल सकती है। देखा जाए तो यहां इस बार एनडीए की सरकार बनती दिख रही है। इससे पहले यहां कांग्रेस गठबंधन (यूपीए) की सरकार थी।

अब हम 2016 में इन चार राज्यों और केंद्र शासित प्रदेश पुडुचेरी में कराए गए मतदान के बाद जारी एग्जिट पोल्स और मतगणना के बाद आए वास्तविक नतीजों के बारे में जानते हैं।

पश्चिम बंगाल में एग्जिट पोल्स वास्तविक परिणाम के करीब
2016 के एग्जिट पोल्स में पश्चिम बंगाल में एबीपी ने ममता बनर्जी की तृणमूल कांग्रेस पार्टी को 163, सी वोटर ने 167, इंडिया टीवी ने 243 और चाणक्य ने 173 सीटें दी थीं, जबकि पार्टी ने 211 सीटों पर जीत दर्ज की थी। पोल्स में वाम मोर्चा को 45 से 65 सीटें मिलने का दावा किया गया था, जो लगभग सही साबित हुआ। वाम मोर्चा को यहां 68 सीटें प्राप्त हुई थीं। पश्चिम बंगाल के एग्जिट पोल में दावा किया गया था कि भारतीय जनता पार्टी को 1 से 3 सीटें प्राप्त हो सकती हैं। भाजपा को लेकर एग्जिट पोल के दावे सही साबित हुए और इस पार्टी को 3 सीटों पर जीत हासिल हुई। एग्जिट पोल्स में ये भी दावा किया गया था, कि ममता सरकार का एक बार फिर आना तय है लेकिन सीटों की संख्या कम हो जाएंगी, मगर टीएमसी की सीटों की संख्या 2011 की 184 के मुकाबले 2016 में बढ़कर 211 हो गई थीं।

ये भी पढ़ें – भगोड़े नीरव मोदी की भारत में कानूनी शिकंजे से बचने की अंतिम कोशिश!

असम में एग्जिट पोल्स वास्तविक परिणाम के काफी करीब
एग्जिट पोल्स के परिणामों में असम में पहली बार भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनती दिख रही थी, जो सच साबित हुई थी और भाजपा ने राज्य में 83 सीटें हासिल की थी।

वास्तविक परिणाम एग्जिट पोल्स के विपरीत
तमिलनाडु में टाउम्स नाउ-सी वोटर को छोड़कर सभी एग्जिट पोल्स के नतीजों में जयललिता के नेतृत्व वाली पार्टी अन्नाद्रमुक को हारा हुआ दिखाया गया था, लेकिन अम्मा ने 27 साल बाद इतिहास रचते हुए वापसी की थी और 125 सीटों पर जीत प्राप्त कर सबको चौंका दिया था। पोल्स के मुताबिक यहां द्रमुक-कांग्रेस गठबंधन आसानी से बहुमत हासिल करता दिख रहा था, लेकिन इस गठबंधन को 105 सीटें ही प्राप्त हो सकी थीं। इंडिया टुडे-माइ एक्सिस- इंडिया के एग्जिट पोल्स में द्रमुक गठबंधन को 132 सीटें दी गई थीं, वहीं अन्नाद्रमुक को 95 सीटें दी गई थीं। प्रदेश में भाजपा को तीन सीटें मिलने का दावा किया गया था, लेकिन खााता भी नहीं खुल पाया था। न्यूज नेशन ने द्रमुक गठबंधन को 116 और अन्नाद्रमुक को 97 सीटें दी थीं, और टाइम्स नाउ-सी वोटर ने अन्नाद्रमुक को 139 सीटें दी थीं, जबकि द्रमुक गठबंधन को 78 सीटें दी थीं। लेकिन जनता ने पोल्स को गलत साबित करते हुए अम्मा को सीएम की कुर्सी पर आसीन करा दिया था।

ये भी पढ़ेंः सीवान का आतंक खामोश! रंगदारी न देने पर व्यापारी को तेजाब से नहलाया, अब कोरोना ने हराया

केरल में एग्जिट पोल्स सही साबित 
केरल में माकपा के नेतृत्व वाली लेफ्ट डेमोक्रेटिक फ्रंट की जीत दिखाई गई थी। यहां एग्जिट पोल्स के नतीजे सच साबित हुए। यहां एलडीएफ ने 85 सीटों पर जीत हासिल की। पोल्स यहां कांग्रेस के नेतृत्व वाले यूनाइटेड डेमोक्रिटिक फ्रंट को पिछड़ता हुआ दिखा रहे थे। कांग्रेस को यहां 47 सीटें प्राप्त हुई थीं। इंडिया टीवी के एग्जिट पोल में एलडीएफ को 94 पर जीतते हुए बताया गया था, जबकि यूडीएफ को 43, वहीं भाजपा और अन्य को 3 सीटों पर जीतने का दावा किया गया था। लेकिन भाजपा को यहां मात्र 1 सीट से संतोष करना पड़ा था। इंडिया टुडे -एक्सिस के पोल में भी एलडीएफ को 94 तो यूडीएफ को 43 और भाजपा को 2 सीटों पर जीत का दावा किया गया था। सी वोटर के पोल में एलडीएफ को 78 और यूडीएफ को 58 सीटें दी गई थीं, जबकि भाजपा को कुल 2 सीटें दी गई थीं।

पुडुचेरी में पोल्स के सही साबित
पुडुचेरी में पोल्स कांग्रेस-द्रमुक गठबंधन को जीतता हुआ बता रहे थे। इंडिया-टीवी-सी वोटर के पोल में द्रमुक-कांग्रेस गठबंधन को 10 से 18 सीटों पर जीतते हुए बताया गया था, यहां द्रमुक सहित कांग्रेस को 17, जयललिता की डीएमके को 4, अन्य को 1 और एएनआईआरसी को 8 सीटें मिली थीं। 2016 में यहां यूपीए को कुल 17 सीटों पर जीत मिली थी, इसमें अकेले कांग्रेस की 15 सीटों पर जीत हुई थी। हालांकि 2021 के चुनाव से पहले ही यहां सरकार गिर गई थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here