महबूबा को पाकिस्तान से मुहब्बत दिखाने पर अनिल विज ने दी ऐसी सलाह!

पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती ने 21 अगस्त को केंद्र को अफगानिस्तान से सबक लेने के लिए कहा था। उन्होंने कहा था कि तालिबान ने सत्ता पर कब्जा कर दिया और अमेरिका को भागने पर मजबूर कर दिया।

हरियाणा की खट्टर सरकार में मंत्री अनिल विज ने जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री और पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती के प्रेम को देखते हुए उन्हें सख्त सलाह दी है। विज ने उन्हें पाकिस्तान चले जाने की सलाह दी है। महबूबा मुफ्ती के बयान पर पलटवार करते हुए विज ने उन्हें नादान बताया और कहा कि अगर पाकिस्तान से इतनी ही मोहब्बत है तो चली जा वहां।

अनिल विज ने किया ट्वीट
अनिल विज ने ट्वीट करते हुए लिखा है, ‘नादान महबूबा मुफ्ती, तुमको इतना भी नहीं मालूम कि अमेरिका किसी दूसरे देश अफगानिस्तान में बैठा हुआ था, हम तो अपने देश में बैठे हुए हैं। यहां से हमें कोई निकालने की कोई सोच भी नही सकता। पाकिस्तान से इतनी ही मुहब्बत है तो चली जा वहां। जो सुख तुम यहां भोग रही हो वो वहां कोसों दूर है।’

 विशेषाधिकार को फिर से बहाल करने का आग्रह
बता दें कि पीडीपी प्रमुख ने 21 अगस्त को केंद्र को अफगानिस्तान से सबक लेने के लिए कहा था। उन्होंने कहा था कि तालिबान ने सत्ता पर कब्जा कर दिया और अमेरिका को भागने पर मजबूर कर दिया। महबूबा मुफ्ती ने साथ ही जम्मू-कश्मीर में बातचीत शुरू करने और 2019 में रद्द अनुच्छेद 370 को बहाल करने का आग्रह किया था।

ये भी पढ़ेंः तालिबान का खूंखार चेहरा फिर आया सामने! अब कर दिया ऐसा

भी भी जम्मू-कश्मीर में संवाद शुरू करने का अवसर
महबूबा ने 5 अगस्त 2019 के केंद्र सरकार के फैसले पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा था कि एक महाशक्ति, अमेरिका को अपना बोरिया बिस्तर समेटकर भागना पड़ा। आपके पास अभी भी जम्मू-कश्मीर में संवाद शुरू करने का अवसर है, जिस तरह पूर्व प्रधानमंत्री वाजपेयी ने किया था और आपके पास जम्मू-कश्मीर की पहचान को अवैध रुप से और असंवैधिनिक तरीके से छीनकर की गई गलती को सुधारने का एक मौका है, अन्यथा बाद में बहुत देर हो जाएगी।

भाजपा का आरोप
महबूबा की इस टिप्पणी पर भारतीय जनता पार्टी ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की और उनपर सत्ता जाने के बाद घृणा का राजनीति करने का आरोप लगाया। भाजपा ने कहा कि जो भी देश के खिलाफ साजिश करेगा, उसे तबाह कर दिया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here