गुलाम नबी आजाद ने छोड़ा हाथ का साथ, सोनिया गांधी को भेजे इस्तीफे में लिखी ये बात

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री गुलाम नबी आजाद से पार्टी छोड़ दी है।

कांग्रेस को झटके लगने लगातार जारी हैं। इसी क्रम में अब पार्टी को एक और बड़ा झटका लगा है। पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री गुलाम नबी आजाद से पार्टी छोड़ दी है। उन्होंने पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी को पत्र लिखकर सभी पदों से इस्तीफा दे दिया।

सोनिया गांधी को लिखे पांच पन्नों के इस्तीफे में उन्होंने पार्टी छोड़ने के कारणों का जिक्र किया है। आजाद ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को भेजे इस्तीफे में पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से लेकर सभी पदों को छोड़ दिया है। आजाद ने अपने पत्र में लिखा है, “बड़े अपसोस और बेहद भावुक दिल के साथ मैंने भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस से अपना आधा सदी का नाता तोड़ने का फैसला किया है।” इसके साथ ही आजाद ने कहा है भारत जोड़ो यात्रा की जगह कांग्रेस जोड़ो यात्रा निकलनी चाहिए।

जी-23 के सदस्य थे आजाद
पूर्व केंद्रीय मंत्री और जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री गुलाम नबी आजाद पार्टी से काफी दिनों से नाराज चल रहे थे। वे जी-23 गुट के नेता थे। इस गुट ने कांग्रेस में बदलाव की मांग की थी। गुलाम नबी आजाद से पहले पार्टी के वरिष्ठ नेता और जी-23 के सदस्य कपिल सिब्बल भी कांग्रेस छोड़ चुके हैं। फिलहाल वे सपा की मदद से राज्यसभा के सदस्य हैं।

लंबे समय से नाराज थे आजाद
वैसे तो वर्षो से गुलाम नबीं आजाद की पार्टी से नाराजगी सामने आती रही थी, लेकिन ऐसा लगता है कि हाल की एक नाराजगी के बाद उन्होंने यह बड़ा निर्णय लेने का मन बना लिया। उन्हें पिछले दिनों जम्मू-कश्मीर चुनाव अभियान समिति का अध्यक्ष बनाया गया था। उसके मात्र दो घंटे बाद उन्होंने इस पद से त्याग पत्र दे दिया था। सोनिया गांधी चाहती थीं कि वे जम्मू-कश्मीर में उनके नेतृत्व मे पार्टी चुनाव लड़े, लेकिन आजाद इसके लिए तैयार नहीं थे। उन्होंने अपने स्वास्थ्य कारणों का हवाला देकर इस्तीफा दे दिया था। इसके बाद उनके बारे में तरह-तरह की अटकलें लगाई जा रही थीं।

और भी कई नेता दे सकते हैं इस्तीफा
आजाद के बाद पार्टी के कुछ और नेता कांग्रेस छोड़ सकते हैं। ऐसे नेताओं में आनंद शर्मा और मनीष तिवारी जैसे नेताओं के नाम लिए जा सकते हैं। ये पार्टी से कई बार नाराजगी जता चुके हैं।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here