भारत सतर्क! डोकलाम विवाद के मास्टरमाइंड को मिली ये जिम्मेदारी

पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) के जनरल वेइदॉन्ग केंद्रीय सैन्य आयोग के उपाध्यक्ष होने के साथ ही चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के 20वें पोलित ब्यूरो के सदस्य भी हैं।

चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने भारत-पाकिस्तान और दक्षिण एशिया के अन्य हिस्सों से संबंधित सभी सैन्य मामलों की देखरेख के लिए हे वेइदॉन्ग को नियुक्त किया गया है। पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) के जनरल हे वेइदॉन्ग को ही 2017 में भारत-भूटान-चीन ट्राई जंक्शन के पास हुई डोकलाम घुसपैठ का मास्टरमाइंड माना जाता है। भारत की सेना ने 72 दिन तक आमने-सामने डटकर चीनी सैनिकों को वापस लौटने के लिए मजबूर कर दिया था।

सैनिक प्रशिक्षण और युद्ध की तैयारियों को बढ़ाने का आह्वान
चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने अपने तीसरे कार्यकाल में केंद्रीय सैन्य आयोग (सीएमसी) के संयुक्त अभियान कमान मुख्यालय की अपनी पहली यात्रा में चीनी सेना से ‘सैनिक प्रशिक्षण और युद्ध की तैयारियों को बढ़ाने’ का आह्वान किया है। इसी दौरान उन्होंने पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) के जनरल हे वेइदॉन्ग (65) को सीएमसी का नया उपाध्यक्ष बनाया है।

वेइदॉन्ग को माना जाता है डोकलाम घुसपैठ का मास्टरमाइंड
पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) की पश्चिमी थिएटर कमांड के पूर्व कमांडर जनरल झांग जुडॉन्ग 2017 में डोकलाम संकट के दौरान प्रभारी थे, जब भारत और चीन की सेनाएं भारत-भूटान-चीन ट्राईजंक्शन के पास पठार पर 72 दिन तक आमने-सामने रही थीं। जनरल हे वेइदॉन्ग को ही डोकलाम घुसपैठ का मास्टरमाइंड माना जाता है। इसके बाद उन्हीं के कार्यकाल में पूर्वी लद्दाख की वास्तविक नियंत्रण रेखा पर मई की शुरुआत से गतिरोध बढ़ा और चीनी सेना ने एलएसी पार करके कई एकतरफा बदलाव किए।

सौंपी गई है ये जिम्मेदारी
पीएलए की पश्चिमी थिएटर कमांड चीन के कब्जे वाले अक्साई चिन, पूर्वी लद्दाख में भारत की पश्चिमी सीमा एलएसी, एलएसी से सटे तिब्बत और झिंजियांग क्षेत्र के लिए भी जिम्मेदार है। चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने हे वेइदॉन्ग को केंद्रीय सैन्य आयोग का उपाध्यक्ष नियुक्त करने के साथ ही भारत-पाकिस्तान और दक्षिण एशिया के अन्य हिस्सों से संबंधित सभी सैन्य मामलों की देखरेख के लिए जिम्मेदारी सौंपी है।

वेइदॉन्ग हैं केंद्रीय सैन्य आयोग के उपाध्यक्ष
पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) के जनरल वेइदॉन्ग केंद्रीय सैन्य आयोग के उपाध्यक्ष होने के साथ ही चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के 20वें पोलित ब्यूरो के सदस्य भी हैं। वेइदॉन्ग डोंगताई, जिआंगसु प्रांत से है। वह दिसंबर, 1972 में पीपुल्स लिबरेशन आर्मी और नवंबर, 1978 में चीन की कम्युनिस्ट पार्टी में शामिल हुए। उन्होंने सेंट्रल पार्टी स्कूल में स्नातक की शिक्षा प्राप्त की। पीएलए ग्राउंड फोर्स में जनरल का रैंक संभालने वाले वेइदॉन्ग ने 1981 में पीएलए नानजिंग आर्मी कमांड कॉलेज से स्नातक किया। वह जुलाई, 2013 में जियांगसू सैन्य जिले और मार्च 2014 में शंघाई गैरीसन के कमांडर थे। फरवरी, 2015 में उन्होंने सीसीपी शंघाई समिति की स्थायी समिति के सदस्य के रूप में झू शेंगलिंग की जगह ली।

कौन हैं जनरल हे वेइदॉन्ग?
वेइदॉन्ग को जुलाई, 2016 में उन्हें वेस्टर्न थिएटर कमांड के डिप्टी कमांडर और वेस्टर्न थिएटर कमांड ग्राउंड फोर्स के कमांडर के रूप में स्थानांतरित कर दिया गया। सितंबर, 2019 में उन्हें लियू युजुन की जगह ईस्टर्न थिएटर कमांड का कमांडर बनने के लिए पदोन्नत किया गया था।उन्होंने 2019 से 2022 तक ईस्टर्न थिएटर कमांड के कमांडर के रूप में कार्य किया। उन्हें जुलाई, 2008 में मेजर जनरल (शाओजियांग), जुलाई, 2017 में लेफ्टिनेंट जनरल (झोंगजियांग) और दिसंबर, 2019 में जनरल (शांगजियांग) के पद पर पदोन्नत किया गया था। 2001 में उन्होंने राष्ट्रीय रक्षा प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय में प्रवेश किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here