मुंबई लौटे परमबीर! कांदिवाली क्राइम ब्रांच यूनिट 11 के कार्यालय में दाखिल

पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह के खिलाफ मुंबई और ठाणे में पांच मामले दर्ज हैं। सर्वोच्च न्यायालय ने उन्हें 22 नवंबर को जबरन वसूली मामले में गिरफ्तार किए जाने से राहत दे दी थी। इसके साथ ही उन्हें जांच में शामिल होने का भी निर्देश दिया था।

सर्वोच्च न्यायालय द्वारा गिरफ्तारी पर रोक लगाए जाने के बाद मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह मुंबई लौट आए हैं। उन्होंने 24 नवंबर को कहा था कि वे बहुत जल्द अपने खिलाफ चल रही जांच में शामिल होंगे। सर्वोच्च न्यायालय ने हाल ही में सुरक्षा देने की मांग करने वाली उऩकी याचिका पर सुनवाई करते हुए उनसे अपना ठिकााना बताने को कहा था। उसके बाद उन्होंने खुद को चंडीगढ़ में होने की बात कही थी।

फिलहाल परमबीर सिंह मुंबई गोरेगांव के एक हफ्ता वसूली मामले में चल रही जांच में शामिल होने कांदिवली स्थित क्राइम ब्रांच यूनिट 11 के कार्यालय में पहुंचे हैं।

ये भी पढ़ेंः … इसलिए महाराष्ट्र बंद से हुए नुकसान की भरपाई करे सरकार, पूर्व आईएएस-आईपीएस अधिकारियों ने की मांग

मुंबई और ठाणे में पांच मामले दर्ज
पूर्व पुलिस आयुक्त के खिलाफ मुंबई और ठाणे में पांच मामले दर्ज हैं। इनमें से 4 प्रकरणों की जांच सीआईडी के पास है, जबकि गोरेगांव में दर्ज प्रकरण की जांच मुंबई पुलिस की अपराध शाखा कर रही है। इस प्रकरण में किला कोर्ट ने पिछले सप्ताह परमबीर सिंह और उनके सह आरोपी रियाज भाटी को फरार घोषित किया था। उन्हें 30 दिनों के भीतर न्यायालय के समक्ष पेश होना था। बता दें कि सर्वोच्च न्यायालय ने उन्हें 22 नवंबर को जबरन वसूली मामले में गिरफ्तार किए जाने से राहत दे दी थी। इसके साथ ही उन्हें जांच में शामिल होने का भी निर्देश दिया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here