राज्यसभा की 57 सीटों के लिए मतदान की घोषणा, ऐसा है कार्यक्रम

भारत निर्वाचन आयोग ने राज्यसभा की रिक्त हुई 57 सीटों के लिए मतदान कार्याक्रम की घोषणा कर दी है। इसमें 15 राज्यों की 57 सीटों के लिए चुनाव होने हैं। निर्वाचन आयोग की प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार यह चुनाव 10 जून को होंगे, इसकी विस्तृत चुनावी प्रक्रिया इस प्रकार है।

मतदान कार्यक्रम

  • 24 मई, 2022 तक जारी होगी चुनावी अधिसूचना
  • 31 मई, 2022 तक नामांकन भरने की तिथि
  • 1 जून, 2022 को नामाकनों की जांच
  • 3 जून, 2022 को नाम वापस लेने की अंतिम तिथि
  • 10 जून, 2022 को सबेरे 9 बजे से 4 बजे तक मतदान
  • 10 जून, 2022 को ही सायं 5 बजे के बाद मतगणना

ये भी पढ़ें – जयपुर राजघराने की दीया कुमारी ने ताजमहल पर किया दावा, कहा- “हमारे पास मौजूद हैं कागजात!”

किसी राज्य से कितनी सीटें रिक्त

  • आंध्र प्रदेश से 4
  • तेलंगाना से 2
  • छत्तीसगढ़ से 2
  • मध्य प्रदेश से 3
  • तमिलनाडु से 6
  • कर्नाटक से 4
  • ओडिशा से 3
  • महाराष्ट्र से 6
  • पंजाब से 2
  • राजस्थान से 4
  • उत्तर प्रदेश से 11
  • उत्तराखंड से 1
  • बिहार से 5
  • झारखंड से 2
  • हरियाणा से 2

दो वर्षो में एक तिहाई सीटें रिक्त
संवैधानिक प्रावधानों के अनुसार प्रत्येक दो वर्ष में राज्यसभा की दो तिहाई सीटें रिक्त होती हैं। राज्यसभा का कुल संख्याबल 250 निर्धारित है, जिसमें से 238 के सीटों के लिए चुनाव होता है। जबकि 12 सीटों के लिए राष्ट्रपति नामों का अनुमोदन करते हैं।

राज्यसभा भंग नहीं होती
राज्यसभा को अपर हाउस भी कहा जाता है। जैसे लोकसभा का कार्यकाल समाप्त होता है, वैसा राज्यसभा में नहीं होता। यहां सदस्य बदलते हैं, न कि, राज्यसभा भंग होती है। संसदीय परंपरा में राज्यसभा चिरस्थाई रहती है। कुल सदस्यों में से एक तिहाई सदस्य प्रत्येक दो वर्षों में बदलते हैं। राज्यसभा के सदस्यों का कार्यकाल छह वर्षों का होता है। इसके चुनाव में मतदाता राज्यों के जन प्रतिनिधि यानी विधायक होते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here