टाटा एयर बस और सैफ्रोन परियोजना के प्रदेश से बाहर जाने के लिए जिम्मेदार कौन? फडणवीस ने लगाया ये आरोप

उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने पूर्व की ठाकरे सरकार के आरोपों का जवाब दिया है। फडणवीस ने कंपनियों को राज्य से बाहर जाने के लिए ठाकरे सरकार को जिम्मेदार ठहराया है।

महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने एक बार फिर पूर्व की ठाकरे सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने दावा किया है कि ठाकरे सरकार की निष्क्रियता के कारण, टाटा एयर बस और सैफ्रोन कंपनियों को 2021 में महाराष्ट्र से बाहर ले जाया गया। उन्होंने कहा कि उनकी विफलता का दोष हमारी सरकार पर क्यों डाला जा रहा है? फडणवीस ने कहा कि विपक्ष जान-बूझकर राज्य में नकारात्मक माहौल बना रहा है। उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने प्रेस वार्ता में आरोप लगाया कि विपक्ष ने निवेश को प्रभावित करने के लिए राज्य को बदनाम करने का षड्यंत्र रचा है।

मोदी को कोसने में बिताए ढाई साल
फडणवीस ने कहा कि पहले से ही अनुमान लगाया जा रहा था कि टाटा एयर बस गुजरात जाएगी। इस प्रोजेक्ट को 2021 में ही महाराष्ट्र से गुजरात स्थानांतरित कर दिया गया था। अब विपक्ष इस पर हंगामा कर रहा है। उस समय जब हमने कंपनी के लोगों से चर्चा की तो उन्होंने बताया कि महाराष्ट्र में माहौल ठीक नहीं है। सैफ्रोन परियोजना भी 2021 में महाराष्ट्र से बाहर चली गई। फडणवीस ने कहा कि ये दोनों प्रोजेक्ट एमवीए सरकार के दौरान बाहर गए हैं। अगस्त-सितंबर 2019 में हमारी सरकार के दौरान मैंने खुद सैफ्रोन कंपनी से चर्चा की थी। उसके बाद हमारी सरकार चली गई, फिर एमवीए सरकार ने एक साल तक कंपनी से पत्राचार नहीं किया। ठाकरे सरकार ने संपर्क भी नहीं किया था। इसलिए कंपनी ने 2021 में गुजरात जाने का फैसला किया। इस सरकार ने ढाई साल सिर्फ मोदी का अपमान करते हुए गुजारे। फडणवीस ने यह भी कहा कि केंद्र ने महाराष्ट्र को मेडिकल डिवाइस पार्क और बल्क ड्रफ पार्क दोनों परियोजनाओं को देने की घोषणा नहीं की थी, इसलिए यह कहने का कोई मतलब नहीं है कि वे महाराष्ट्र से बाहर चले गए।

विपक्ष की राज्य में नकारात्मक माहौल बनाने की कोशिश
उपमुख्यमंत्री ने कहा कि हम नानार रिफाइनरी परियोजना को पूरा करेंगे। हमने उस परियोजना को रद्द करने की घोषणा नहीं की है। विपक्ष झूठे बयान देकर राज्य में नकारात्मक माहौल बनाने की कोशिश कर रहा है। फडणवीस ने यह भी कहा कि जब से देश में प्रधानमंत्री मोदी की सरकार आई है, महाराष्ट्र को अब तक सबसे ज्यादा फंड मिला है। फडणवीस ने कहा कि हम अन्य राज्यों में जाने वाली परियोजनाओं को महाराष्ट्र में लाने के लिए अंत तक प्रयास करेंगे। हमने सबूत के साथ विरोधियों द्वारा लगाए गए आरोपों को झूठा साबित किया है। उनके पास कोई सबूत नहीं है। उन्होंने ढाई साल सरकार चलाई है, उन्हें कोई उपलब्धि दिखानी चाहिए। उन्होंने महाराष्ट्र को बदनाम करने की साजिश रची है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here